DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बर्ड फ्लू जैसे हालात से निपटने को यूपी में भी कानून बनेगा

राज्य सरकार बर्ड फ्लू की किसी भी अप्रिय स्थिति से निपटने के लिए पक्षियों व उनके उत्पाद के आयात को प्रतिबंधित करने के लिए नया कानून बनाएगी। केन्द्र सरकार ने ‘लाइव स्टाक इम्पोर्टेशन एक्ट’ के तहत राज्य को इस तरह का कानून बनाने के निर्देश दिए हैं। बर्ड फ्लू के परीक्षण हेतु पुणे स्थित प्रयोगशाला भेजे जाने वाले सीरम सैम्पुल अब वायुयान से भेजे जाएँगे ताकि उन्हें एक निश्चित तापमान पर रखने की समस्या का समाधान हो सके।ड्ढr प्रदेश में बर्ड फ्लू की स्थिति की समीक्षा के लिए प्रदेश के कृषि उत्पादन आयुक्त अनीस अंसारी की अध्यक्षता में हुई बैठक में यह बातें उभर कर आईं। श्री अंसारी ने केन्द्र सरकार द्वारा पक्षियों की ‘कलिंग’ के लिए संशोधित की गई प्रतिपूर्ति की धनराशि को अपर्याप्त बताते हुए इस संबंध में केन्द्र सरकार से पुन: बढ़ोत्तरी का प्रस्ताव भेजकर अनुरोध करते रहने के निर्देश दिए। उन्होंने यह भी कहा कि भोपाल की प्रयोगशाला की भाँति सैम्पुलों के परीक्षण के नतीजे पुणे स्थित प्रयोगशाला द्वारा भी वेबसाइट पर प्रदर्शित करने के लिए कहा जाए। प्रमुख सचिव पशुधन आरएम श्रीवास्तव ने बैठक में बताया कि प्रदेश में बर्ड फ्लू की कोई सूचना नहीं है। अब तक परीक्षण के लिए भेजे गए सभी 8371 सीरम और वैब सैम्पुल निगेटिव मिले हैं। किसी भी स्थान से कुक्कुट प्रक्षेत्रों पर पक्षियों में असामान्य मृत्यु या बर्ड फ्लू के प्रकोप की सूचना नहीं मिली है। उन्होंने बताया कि वाराणसी जिले में चिरई गाँव नाले के किनारे मरी पाई गई लगभग 50 मुर्गियों की जाँच कराई गई तो पाया गया कि उनकी मृत्यु अत्यधिक दबाव तथा घुटन से हुई है। संबंधित ट्रांसपोर्टर को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि बर्ड फ्लू की स्थिति से निपटने के लिए कानून बनाने की दिशा में कार्यवाही शुरू हो गई है। नियमों से संबंधित ड्राफ्ट तैयार हो रहा है। पंजाब व महाराष्ट्र में लागू कानून की तरह ही यूपी के लिए भी प्रस्ताव तैयार कर कैबिनेट के समक्ष पेश किया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बर्ड फ्लू जैसे हालात से निपटने को यूपी में भी कानून बनेगा