अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बुश ने स्वीकारा, अर्थव्यवस्था पटरी पर नहीं

अमेरिकी राष्ट्रपति जार्ज डब्ल्यू बुश ने इस बात को स्वीकार किया है कि देश की अर्थव्यवस्था की गति काफी धीमी है और अमेरिकी नियोक्ताओं को फरवरी के महीने में 63 हजार नौकरियों की कटौती करनी पड़ी। इतनी बड़ी संख्या में नौकरियों में कटौती पिछले पांच वर्ष में पहली बार हुई है। हालांकि बुश ने दावा किया कि सरकार द्वारा घोषित पैकेज से अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने में सहायता मिलेगी। बुश ने कहा कि नौकरियों से हाथ धोना काफी कष्टकारी होता है। मैं जानता हूं कि अमेरिकी जनता अर्थव्यवस्था को लेकर चिंतित है, तो मैं क्यों नहीं चिंतित होऊंगा। उन्होंने कहा, मैं जानता हूं कि यह समय हमारी अर्थव्यवस्था के लिए बेहद कठिन है। लेकिन हमने संकट को समय रहते भांप लिया और हमने अर्थव्यवस्था में मजबूती लाने का प्रयास किया। अमेरिकी कांग्रेस द्वारा इस साल मंजूर किए आर्थिक पैकेज से करदाताओं को कर में छूट मिलेगी। राष्ट्रपति बुश ने करदाताओं से अपील की है कि वे कर में दी गई छूट की राशि को बचाने के बजाय खर्च करें। उन्होंने कहा, जब अमरिकी जनता के पास पैसे पहुंचेंगे तो हम आशा कर सकते हैं कि इससे उपभोक्ता खर्च को बढ़ावा मिलेगा। गौरतलब है कि अमेरिकी श्रम विभाग ने शुक्रवार को एक रिपोर्ट जारी की थी, जिसके अनुसार फरवरी के महीने में 63 हजार लोग नौकरियों से बाहर हो गए। अर्थव्यवस्था में मंदी का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि जनवरी में भी अमेरिका में 22 हजार लोगों को नौकरियों से हाथ धोना पड़ा था। इन स्थितियों के मद्देनजर अमेरिका के केंद्रीय बैंक ‘फेडरल रिजर्व’ ने घोषणा की है कि वह बैंकों को और अधिक कर्ज देगी। इसके साथ ही वह नीलामी के माध्यम से कर्जो की उगाही करेगी। अमेरिका के निर्माण, खुदरा व्यापार और भवन निर्माण जैसे क्षेत्रों में मंदी का असर देखा जा रहा है। इन क्षेत्रों में बड़ी संख्या में नौकरियों में कमी आई है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बुश ने स्वीकारा, अर्थव्यवस्था पटरी पर नहीं