DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मूल्यांकन के बाद छात्र घर ले जा सकेंगे कॉपियाँ

राजधानी के पहले स्वायत्त कॉलेज बने नेशनल पीजी कॉलेज ने निर्णय किया है कि वह अपने कॉलेज के छात्रों को परीक्षा की कॉपियों के मूल्यांकन के बाद उन्हें वापस कर देगा। इससे छात्रों को यह पता चल सकेगा कि उन्हें किस सवाल में कितने नम्बर मिले हैं। नेशनल पीजी कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ. एसपी सिंह ने कहा कि स्वायत्तता मिलने के बाद अब वह परीक्षा व प्रवेश से संबंधित नियम बनाने के लिए स्वतंत्र हैं। ऐसे में वह छात्र हित में परीक्षा कार्य में सबसे पहले पारदर्शिता लाना चाहते हैं।ड्ढr डॉ. सिंह के मुताबिक ग्रेजुएट व पोस्टग्रेजुएट के छात्रों को जब मूल्यांकन के बाद कॉपियाँ दी जाएँगी तो उन्हें अपनी कमी व अच्छाई दोनों का पता चल सकेगा। अभिभावक भी ये कापियाँ देख सकते हैं। इससे पारदर्शिता आएगी। यही नहीं छात्रों को कापियाँ दिए जाने से मूल्यांकन का काम भी ढंग से होगा। मूल्यांकन में कोई गड़बड़ी न हो, इसके प्रति शिक्षक सतर्क रहेंगे। वहीं, कॉलेज के सभी कोर्सो में टॉपर रहने वाले छात्रों की कॉपियाँ पुस्तकालय में रखवा दी जाएँगी। उन्हें कोई भी छात्र कभी भी देख सकेगा। इससे अन्य छात्रों को काफी फायदा मिलेगा। उन्हें यह पता चल सकेगा कि सवालों के जवाब देने में कैसी सावधानियाँ बरतनी चाहिए। डॉ. सिंह ने बताया कि कॉलेज संचालन के लिए एक कमेटी बनाई जा रही है। उस कमेटी में लविवि का एक नुमाइंदा होगा। साथ ही यूजीसी से भी किसी सदस्य को नामित किया जाएगा। कॉलेज को स्वायत्तता मिलने के बाद लविवि सिर्फ उसे डिग्री ही दे सकेगा। ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मूल्यांकन के बाद छात्र घर ले जा सकेंगे कॉपियाँ