DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कश्मीर सिंह ने जासूस होने का खंडन किया

हाल ही में पाकिस्तान जेल से छूटकर आए कश्मीर सिंह ने शनिवार को स्पष्ट शब्दों में कहा कि वह पाकिस्तान में जासूस नहीं थे। पंजाब के होशियारपुर जिले के नानगल चोरां गांव में कश्मीर सिंह ने बताया कि मीडिया ने पाकिस्तान में उनकी भूमिका को तोड़-मरोड़कर पेश किया है। उन्होंने बेबाक लहजे में कहा कि वह पाकिस्तान में तस्करी के लिए गए थे और 1में पाक सुरक्षा एजेंसियों द्वारा गिरफ्तार कर लिए गए। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में उन पर भारतीय जासूस होने का आरोप लगाया गया था। जासूसी संबंधी विवाद पर उन्होंने कहा कि वह पाकिस्तान जेल में बंद भारतीय कैदियों की रिहाई के रास्ते में दीवार नहीं खड़ा करना चाहते हैं। प्रत्येक आदमी को जानकारी है कि क्या हो रहा है। 35 सालों के बाद उनकी रिहाई एक शुरुआत है। कश्मीर सिंह ने अपनी रिहाई का श्रेय पाकिस्तान सरकार को देते हुए कहा कि भारत सरकार की इस रिहाई में कोई भी भूमिका नहीं है। उन्होंने भारत सरकार के प्रति नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि उनके या उनके परिवार के लिए कुछ भी नहीं किया गया। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि 1में किए गए काम के प्रति उन्हें कोई पछतावा नहीं हैं, क्योंकि यह उनके पसंद के मुताबिक था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कश्मीर सिंह ने जासूस होने का खंडन किया