अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पंचायत समिति की बैठक में हंगामा

प्रखंड सभागार में पंचायत समिति की एक हंगामेदार बैठक प्रखंड प्रमुख देवान्ती देवी की अध्यक्षता में संपन्न हुई जबकि संचालन प्रखंड विकास पदा. खुर्शीद आलम अंसारी ने किया।ड्ढr ड्ढr बैठक की शुरुआत गत कार्यवाही की संपुष्टि से की गई। जिसमें नलकूप विभाग के कनीय अभियंता की जमकर खिंचाई की गई। इस पर अमहारा के मुखिया डा. आनंद कुमार ने बंद पड़े नलकूपों की जानकारी सौंपने एवं उसमें यथासंभव आर्थिक मदद करने की बात कही। वहीं बार-बार सूचना के बावजूद प्रभारी चिकित्सा पदा. डा. नीलम एवं अन्य अधिकारियों की बैठक से अनुपस्थित रहने का मामला छाया रहा। वहीं पंचायत सचिव एवं रोजगार सेवक का मुख्यालय से अनुपस्थित रहने के मामले पर बीडीओ ने विधिवत ऐबसेन्टी बनाकर मुखियों को भेजने की सलाह दी ताकि आवश्यक कार्रवाई की जा सके।ड्ढr ड्ढr वहीं महिला प्रसार पदा. मंजू देवी द्वारा बैठक की तिथि बार-बार टालने के मामले पर जमकर खिंचाई की गई। साथ ही पच्चीस मार्च को बैठक की तिथि निर्धारित की गई। बैठक में डा. आनंद कुमार, सहदेव राय, मुरारी सिंह, सुशील पाल, गीता देवी, रानी देवी, धनमान्ती देवी, मो. अंजारुल हक, सुभाष यादव, मीना देवी मंजू देवी, अजिता देवी, चौपा देवी रविन्द्र कुमार, राम बाबू यादव, आदि प्रमुख थे।ड्ढr ड्ढr अफसरों के नहीं रहने पर गरमाया रहा सदनड्ढr मनेर (सं.सू.)। शनिवार को प्रखंड के सभागार में हुई पंचायत समिति की बैठक में अधिकारियों की अनुपस्थिति से पूरा सदन गरमाया रहा। सिंघाड़ा पंचायत के मुखिया अखिलेश सिंह ने कार्यपालक पदाधिकारी समेत प्रखंड प्रशासन के मुख्य पदाधिकारियों की बैठक में अनुपस्थित रहने का मुद्धा उठाते हुए कहा कि पूर्व सूचना के बाद भी पदाधिकारी अनुपस्थित हैं। यह गम्भीर मुद्धा है। सदन में मौजूद सदस्यों ने सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित किया कि अनुपस्थित रहने वाले पदाधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी किया जाए। नरेगा के कार्य शुरू नहीं होने पर सवाल करते हुए माधोपुर पंचायत के मुखिया त्रिलोक प्रसाद ने कहा कि जिला परिषद से स्वकिृत योजनाओं को अब तक शुरू नहीं किया गया। इसमें विलंब होने को लेकर ग्यासपुर पंचायत के मुखिया समेत सदन के अन्य लोगों ने कार्यक्रम पदाधिकारी (नरेगा) पर कमीशन मांगने का आरोप लगाया। मुखिया आखिलेश सिंह के इस प्रस्ताव को सर्वसम्मत से पारित किया गया जिसमें उन्होंने कहा कि पुरानी सूची के अनुसार ही इन्दिरा आवास का चयन किया जाए। बैठक में स्थानीय विधायक प्रो. श्रीकांत निकाला, मुखिया मैनेजर यादव, दशरथ सिंह, कविता देवी, नागमणी, सुनौना देवी, मनोज कुमार आदि लोग थे। संचालन प्रखंड कल्याण पदाधिकारी ने किया।ड्ढr ड्ढr विधायक व मुखियों के बीच नोकझोंकड्ढr मनेर (सं .सू.)। पंचायत समिति की बैठक में मौजूद स्थानीय विधायक श्रीकांत निराला एवं मुखिया आखिलेश सिंह के बीच जमकर नोकझोंक हुई। नरेगा के कार्यक्रम पदाधिकारी पर कमीशन मांगने का आरोप सदन में उठा तो विधायक ने सदन को मुखातिब करते हुए कहा-आपलोग को भी दुरुस्त होना होगा। विधायक के इतना कहने पर मुखिया त्रिलोक प्रसाद एवं अखिलेश सिंह ने कहा हमलोग चोर नहीं हैं। दुरुस्त हैं। इसी को लेकर विधायक एवं मुखिया में नोकझोंक होने लगी। मुखिया द्वय ने कहा कि पदाधिकारी को सदन में प्रोटेक्शन दिया जा रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पंचायत समिति की बैठक में हंगामा