DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

धमदाहा में पुलिस पर हमला,दो जख्मी

एक शिक्षक के कथित अपहरण की घटना की तहकीकात करने गयी पुलिस पर असामाजिक तत्वों ने जानलेवा हमला किया जिसमें धमदाहा के थानाध्यक्ष समेत दो पुलिसकर्मी जख्मी हो गये। पुलिस ने आत्मरक्षार्थ एवं भीड़ को तितर-बितर करने के लिए दो चक्र गोलियां चलायीं जिसमें किसी के हताहत होने की खबर नहीं है। स्थिति तनावपूर्ण किन्तु नियंत्रण में बतायी जा रही है। यह वाकया धमदाहा थानान्तर्गत विशनपुर गांव का है। धमदाहा थानाध्यक्ष केके दिवाकर ने घटनास्थल से लौटने के बाद बताया कि गुरुवार को विशनपुर निवासी माधव झा के शिक्षक पुत्र सोनल कुमार झा को स्कूल से घर लौटते वक्त करण मरंडी एवं अन्य के द्वारा अपहरण की सूचना शुक्रवार की शाम पुलिस को मिली।ड्ढr ड्ढr इसी सूचना के आधार पर शनिवार को सदलबल थानाध्यक्ष स्वयं घटनास्थल पर पहुंच ही रहे थे कि सैकड़ों की संख्या में आदिवासियों ने लाठी-फरसा एवं तीर-धनुष से लैस होकर पुलिस पर हमला कर दिया। भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को दो चक्र गोलियां चलानी पड़ी। इसी बीच अपहृत शिक्षक पुलिस को देख भागने की कोशिश कर रहा था कि भीड़ ने उन्हें पकड़ कर उसकी पिटाई कर दी। स्थिति की भयावहता को देखते हुए थानाध्यक्ष ने वरीय अधिकारियों को सूचना दी। सूचना मिलते ही एसडीओ राधा रमण झा, एसडीपीओ संजय भारती, पुलिस इंस्पेक्टर प्रताप नारायण सिन्हा, बीडीओ सुभाष नारायण समेत आसपास के थानों की पुलिस घटनास्थल पर पहुंचकर स्थिति को नियंत्रित किया। इस बीच प्रखंड उप प्रमुख बालो यादव, मुखिया मुसहरनी देवी, सरपंच राधा देवी, समिति सदस्या मीरा देवी, उमेश राम, विनोद चौधरी आदि लोगों की मदद से बंधक बनाये गये शिक्षक की बरामदगी संभव हो सकी।ड्ढr ड्ढr इधर करण मरंडी का आरोप है कि उक्त शिक्षक का उनकी पत्नी जो आंगनबाड़ी सेविका हैं, से नाजायज संबंध है। वहीं दूसरी तरफ शिक्षक के पिता का आरोप है कि उसके पुत्र का अपहरण कर एक लाख रुपये रंगदारी मांगी जा रही थी। शिक्षक सोनल ने भी इस आरोप की पुष्टि की है। एसडीओ श्री झा ने बताया कि अपहृत शिक्षक की बरामदगी कर ली गयी है। स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है। उन्होंने दो पुलिस जवानों के घायल होने एवं आत्मरक्षार्थ दो चक्र गोलियां चलाये जाने की बात कबूल की है। घायल शिक्षक को अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है। नक्सलियों ने निर्माण कम्पनी की झोपड़ी जलाईड्ढr बंजारी (रोहतास) (सं.सू.)। अमझोर थाना क्षेत्र के नयका गांव में शुक्रवार की रात वर्दीधारी नक्सलियों ने एक झोपड़ी में आग लगा दी। पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार नयका गांव में पुल निर्माण निगम द्वारा पिछले वर्ष एक पूल निर्माण का शिलान्यास किया गया था, जिसका कार्य इस वर्ष तीन चार दिन पूर्व आरंभ किया गया है। वहां मजूदरों के रहने के लिए एक झोपड़ी लगाया गया था जिसे नक्सलियों ने आग लगाकर जला दिया। इस संबंध में अनुमंडल आरक्षी पदाधिकारी मिथलेश कुमार ने बताया कि पुल निर्माण के लिए वहां पायलिंग मशीन रखा गया था जिसे कोई क्षति नहीं पहुंचाया गया है। उन्होंने कहा कि घटना के पिछले लेवी की मांग हो सकती है। सूत्रों के अनुसार वहां उपस्थित मजदूरों के साथ भी मारपीट किए जाने की सूचना है। घटना के बाद रोहतास थानाध्यक्ष देवेन्द्र कुमार एवं तिलौथू थानाध्यक्ष कैलाश प्रसाद, केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल के जवानों के साथ ले नक्सलियों के ठिकानों पर छापेमारी कर रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: धमदाहा में पुलिस पर हमला,दो जख्मी