अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मंहगाई के खिलाफ सड़कों पर उतरेंगे वामदल

ााद्य व उपभोक्ता वस्तुओं के मूल्यों में आयी बेतहाशा वृद्धि के खिलाफ वामपंथी दल आगामी 18 मार्च को संसद के समक्ष धरना प्रदर्शन करेंगे। यह घोषणा माक्र्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के महासिचव प्रकाश करात ने रविवार को पार्टी की केंद्रीय समिति की बैठक के बाद की। माकपा ने पेट्रोलियम पदार्थो की कीमतों में की गई वृद्धि को भी वापस लेने की मांग की है। केंद्रीय समिति में आसमान छूती मंहगाई पर गंभीर चिंता जताई गई। मंहगाई पर लगाम कसने के लिए माकपा केंद्रीय समिति की ओर से केंद्र की संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन सरकार को चार सुझाव भी दिए गए हैं। केंद्रीय समिति की तीन दिनों तक चली बैठक की जानकारी देते हुए माकपा महासचिव प्रकाश करात ने कहा, ‘वर्ष 2008-0ा आम बजट मंहगाई और मुद्रा स्फीति पर लगाम कसने में पूरी तरह विफल रहा है। खाद्य वस्तुओं का थोक मूल्य सूचकांक पांच फीसदी बढ़ गए हैं।’ माकपा की ओर से सरकार को दिए सुझावों में जन वितरण प्रणाली के तहत राज्यों के हिस्से के अनाजों में की गई 13लाख टन की कटौती को फिर से बहाल किये जाने की बात कही गई है। इसके अलावा पेट्रोल व डीजल के मूल्यों में कटौती की भी मांग की गई है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मंहगाई के खिलाफ सड़कों पर उतरेंगे वामदल