DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ऋण माफी की धारणा नई नहीं : चिदम्बरम

वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने कहा है कि किसानों के 60 हजार करोड़ रुपए के कृषि ऋण माफ करने के संबंध में सरकार शीघ्र ही विस्तृत जानकारी उपलब्ध कराएगी। चिदंबरम ने यहां एक समारोह में कहा कि देश में ऋण माफी की धारणा नई नहीं है। सरकार ने इससे पहले वर्ष 2002-03 में विश्व बाजार में लोहे के दाम घटने से स्टील उद्योग के भी ऋण माफ किए थे। उस दौरान टाटा स्टील और एस्सार समेत देश के लोहा-इस्पात उद्योग को भारी घाटा सहना पड़ा था। उन्होंने कहा कि विपक्षी पार्टियां बजट पेश करने से पहले किसानों के कृषि ऋण माफ करने की मांग कर रही थी लेकिन घोषणा होने के बाद उन्होंने इसका विरोध शुरू कर दिया है। उन्हांेने कहा कि ऋण माफी की घोषणा किसानों के हित में की गई है। वित्तमंत्री ने कहा कि विपक्षी दल सवाल उठा रहे हैं कि ऋण माफी के लिए धन की व्यवस्था कैसे होगी। उन्होंने कहा कि इस संबंध में निर्णय सावधानी पूर्वक अध्ययन करने के बाद लिया गया है।उन्होंने कहा कि ऋण माफी की व्यवस्था और तरीकों की जानकारी संसद में पेश कर दी जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ऋण माफी की धारणा नई नहीं : चिदम्बरम