अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मौका भुनाने को पूरी तरह तैयार रैना

क्रिकेट के मैदान में प्रतिभाशाली बल्लेबाजों की बढ़ती भीड़ के कारण ही वक्त ऐसा आ गया है कि सुरेश रैना जैसे बेहतरीन खिलाड़ी भी ऑस्ट्रेलिया दौरे में बेच स्ट्रेंथ बन कर रह गए। इसके बावजूद मध्य क्रम में जगह बनाने के लिए कड़ी चुनौती ने उन्हें मानसिक रूप से मजबूत बना दिया और अब उन्हें विश्वास है कि में वे भारतीय फिर टीम में जगह बना सकेंगे। पूर्व कोच ग्रेग चैपल ने भी रैना को सर्वाधिक प्रतिभाशाली खिलाड़ियों में शुमार किया था। रैना ने कहा कि टीम से बाहर होने के बाद अब वे खिलाड़ी के रूप में काफी परिपक्व हो गए हैं और कोई भी अवसर लपकने को पूरी तरह से तैयार हैं। वे सहनशील हो गए हैं कि वनडे सीरीज में एक भी मैच नहीं खेलने के बावजूद उनके मनोबल पर कोई असर नहीं पड़ा। एक इंयरव्यू में 21 वर्षीय रैना ने कहा, ‘टीम में काफी प्रतिभाशाली बल्लेबाज हैं। उनके अलावा कुछ बाहर इंतजार में भी हैं। टीम के लिए ये बहुत अच्छा है। इससे साबित होता है कि भारतीय क्रिकेट सही दिशा में बढ़ रही है। इसमें किसी क्रम के लिए कोई चुनौती जैसी बात नहीं है न ही ऐसा ही कि किसी नंबर के लिए बहुत खिलाड़ी हैं। सिर्फ इतना है कि जिसे भी मौका मिलेगा, वो उसे दोनों हाथों से पकड़ेगा और सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन दिखाने के लिए ऐड़ी-चोटी का जोर लगा देगा। ईमानदारी से कहें तो टीम में बहुत अच्छा कंपीटीशन है जो टीम के लिए बहुत अच्छा है।’ वर्ष 2005 में करियर की शुरुआत करने के बाद रैना ने 36 वनडे खेले हालांकि उन्हें टेस्ट कैप पहनने का अभी इंतजार है। जनवरी 2007 में टीम से बाहर होने के बाद से उत्तर प्रदेश का ये खिलाड़ी अपनी बल्लेबाजी पर कड़ी मेहनत कर रहा है। रैना ने कहा, ‘ये काफी निराशाजनक समय रहा। मैंने अपनी बल्लेबाजी पर काफी ध्यान दिया। मेरी सोच अब थोड़ी बदल गई है। अब मैं सकारात्मक सोचता हूं और मैंने ये तय कर लिया है कि मैं देश की ओर से खेलने के लिए पूरी तरह तरोताजा रूप से फिट हूं।’ रैना ने कहा, ‘मेरे विचार से जब भी मुझे मौका मिला, लगभग 40वें ओवर के आसपास जब रन बनाने मुश्किल होते हैं, उस वक्त आने के बावजूद मैंने 35-40 रन बनाए। ऐसे वक्त जब आपके पास कोई विकल्प नहीं होता, आपको शॉट ही लगाने पड़ते हैं।’ बल्लेबाजी क्रम में ऊपर जाने पर क्या टीम में आपकी जगह और पक्की हो सकती है? इस सवाल पर रैना ने कहा, ‘मुझे टीम के लिए खेलना है और ये टीम मैनेजमेंट या कप्तान को तय करना है कि कौन किस नंबर पर खेलेगा।’ जहां एक ओर भारत अब दक्षिण अफ्रीका से भिड़ने की तैयारी कर रहा है, रैना का ध्यान घरेलू सत्र पर है। उन्होंने कहा, ‘मेरा अगला लक्ष्य देवधर ट्रॉफी और आईपीएल के मैच हैं। मैं अभी बिना किसी चोट के पूरी तरह से फिट और अच्छी स्थिति में हूं।’

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मौका भुनाने को पूरी तरह तैयार रैना