अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सिद्धार्थ को उम्मीद अब जरूर खेलेंगे सचिन के साथ

पांच वर्ष की उम्र ने उस बच्चे ने जब सचिन के साथ फोटो खिंचवाई थी, तब उसने शायद सोचा भी नहीं था कि कभी उसे इस दिग्गज बल्लेबाज के साथ खेलने का मौका मिल सकेगा। लेकिन 12 साल बाद अब उसे पूरा यकीन हो रहा कि उसकी जिंदगी में अब ये सुनहरा मौका जरूर आएगा। अंडर-1विश्व कप के बाद घर में आराम फरमाते सिद्धार्थ कौल हाथ में वही यादगार फोटो लिए यही सोच रहे हैं। हाल में अंडर-1विश्व कप फाइनल में अहम भूमिका निभाने वाले सिद्धार्थ कौल को विश्वास है कि वे क्रिकेट में लंबी पारी खेलेंगे। सिद्धार्थ ने बताया कि उनके पिता और जम्मू-कश्मीर के पूर्व रणजी क्रिकेटर तथा राष्ट्रीय टीम के पूर्व फिजियो तेज कौल उन्हें एक मैच दिखाने ले गए थे। वहीं उन्हें मास्टर ब्लास्टर के साथ फोटो खिंचाने का मौका मिला। सिद्धार्थ ने कहा, ‘किसी भी और क्रिकेटर की तरह ही मेरा भी सपना है देश के लिए खेलना। मेरी किस्मत अच्छी रही कि मुझे अपने पिता और भाई उदय से क्रिकेट सीखने का मौका मिला। इसके साथ ही मेरी खुशनसीबी है कि मैं पंजाब क्रिकेट संघ से जुड़ा जिससे मुझे बहुत सहयोग मिला।’ पिता की सीख का ही नतीजा था कि जब विराट कोहली ने उन्हें विश्व कप फाइनल के अंतिम ओवर के लिए उन्हें गेंद थमाई तो उन्होंने अपना धैर्य नहीं खोया और किसी तनाव में नहीं आए। तेज कौल ने कहा, ‘मैंने अपने दोनों बेटों को यही सीख दी है कि दबाव में अपना धैर्य नहीं खोना। उसी के दम पर सिद्धार्थ ने आखिरी ओवर में दो विकेट ले लिए।’ अब भी भारतीय खेल प्राधिकरण में सीनियर क्रिकेट कोच तेज कौल हमेशा अपने दोनों बेटों के क्रिकेट के बारे में ही सोचते रहे हैं। उन्होंने बताया, ‘जब भी सिद्धार्थ और उदय कैंप और मैचों से वापस आते हैं, मैं उन्हें उनकी कमियां बताने के साथ ही उनका फिजिकल और मेंटल स्ट्रेंथ बढ़ाने की कोशिश करता हूं ताकि वे अपना खेल और बेहतर कर सकें।’ कुमार संगकारा को आदर्श मानने वाले पंजाब रणजी टीम के बल्लेबाज उदय कौल हाल ही में आईपीएल के साथ अनुबंधित हुए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सिद्धार्थ को उम्मीद अब जरूर खेलेंगे सचिन के साथ