DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कोहरे ने फिर दिया ग्रिड को झटका

ोहरे से उत्तरी ग्रिड में गड़बड़ी के कारण रविवार को विद्युत आपूर्ति में आई बाधा से कानपुर-दिल्ली के बीच ट्रेनों के आवागमन पर खासा असर पड़ा। खासकर दिल्ली-टूंडला-कानपुर और दिल्ली-अंबाला रेलखंड पर ट्रेन यातायात बुरी तरह प्रभावित रहा जिससे हजारों यात्रियों को परेशानियों का सामना करना पड़ा। ट्रेनें 10 घंटे की देरी से चल रही हैं और करीब 17 गाड़ियों का समय बदल दिया गया है। पश्चिमी यूपी में खासा संकट रहा और दर्जनभर जिलों में अंधेरा छाया रहा।ड्ढr विद्युत आपूर्ति में बाधा सुबह 5.55 पर दादरी स्टेशन के पास आेएचई (आेवर हेड इलेक््रिटक लाइन) लाइन फेल हो जाने के कारण शुरू हुई। लाइन फेल होते ही 36 ट्रेनें जहाँ की तहाँ खड़ी हो गईं। लाइन की खराबी सुबह पर ठीक हो सकी। कु छ ट्रेनों का संचालन शुरू ही हुआ था कि 10.20 पर फिर से लाइन फेल हो गई और फिर 11.30 पर ठीक की जा सकी। 10 बजे के बाद जब विद्युत आपूर्ति बहाल हुई तो दादरी से टुंडला के बीच हावड़ा-राजधानी, सियालदह राजधानी, पटना राजधानी, विक्रम शिला एक्सप्रेस, संपर्क क्रांति एक्सप्रेस, जनसाधारण एक्सप्रेस, बिहार संपर्क क्रांति एक्सप्रेस, सिक्िकम महानंदा एक्सप्रेस समेत दर्जनों गाड़ियाँ फँसी थीं, जो दोपहर बाद तक दिल्ली पहँुची। इस कारण ये गाड़ियाँ समय से नई दिल्ली से रवाना नहीं हो सकी। रेलवे अधिकारियों ने बताया कि राजधानी और गरीब रथ जैसी ट्रेनें भी घंटों देरी से छूटीं। आनन-फानन डीजल इंजनों की व्यवस्था की गई और कई ट्रेनों को गंतव्य की आेर रवाना किया गया। दो दिन पहले भी तड़के चार बजे से दिन के 10 बजे तक ग्रिड फेल हो गया था जिससे उत्तर भारत में रेल यातायात पर असर पड़ा था। पिछले घ्ांटों में एक के बाद एक लगातार हो रहीं घटनाआें से रेलवे संचालन पर काफी बुरा असर पड़ा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कोहरे ने फिर दिया ग्रिड को झटका