अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सकरा में सड़क हादसे में मां-बेटे की मौत

मुजफ्फरपुर-बरौनी मार्ग पर सकरा थाना अंतर्गत सीहो चौक पर रविवार को पूर्वाह्न् करीब 11 बजे एक सड़क दुर्घटना में 35 वर्षीया नगीना खातून और उसके आठ वर्षीय बेटे मो. अली की मौत हो गयी। वहीं इस दुर्घटना में नगीना की दो वर्षीया पुत्री फरीदा, आठ वर्षीय बेटे अल्ताफ सहित तीन बच्चे गंभीर रूप से घायल हो गये। नगीना की मौत श्रीकृष्ण मेडिकल कॉलेज अस्पताल में इलाज के दौरान हुई, जबकि उसके बेटे अली की मौत घटनास्थल पर ही हो गयी। इस घटना के खिलाफ ग्रामीणों ने एनएच 28 को करीब दो घंटे तक जाम रखा। बाद में सूचना पाकर घटनास्थल पर पहुंचे पूर्वी अनुमंडलाधिकारी कुमार रवि ने पीड़ित परिवार को राष्ट्रीय पारिवारिक लाभ योजना से अनुग्रह अनुदान राशि दिलाने का आश्वासन देकर सड़क जाम हटवाया। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि मनियारी थाना क्षेत्र के भगवानपुर निवासी मो. फिरोज की पत्नी नगीना अपने तीन बच्चों और फिरोज की 12 वर्षीया बहन शायरा खातून के साथ बस का इंतजार कर रही थी। नगीना सकरा थाना के तितरा विशनपुर स्थित अपने मायके से ससुराल लौट रही थी। इसी बीच एक ट्रक उन्हे रौंदते हुए एक मंदिर से जा कराया। पूर्व प्रमुख के बेटे की पीटकर हत्याड्ढr फुलवरिया (गोपालगंज) (ए.सं.)। जिले के उचकागांव थानाक्षेत्र के बलेसरा गांव में पीट पीटकर पूर्व प्रखंड प्रमुख चन्द्रमा चौधरी के पुत्र व्यास चौधरी (35) की हत्या कर दी गई। घटना के संबंध में बताया गया है कि पूर्व प्रमुख का पुत्र व्यास चौधरी मीरगंज से बाजार कर घर लौट रहा था कि गांव के मुख्य पथ पर लाठी डंडे तथा किसी घातक हथियार से मारकर उसकी हत्या कर दी गई। घटना के सूचना मिलने के बाद पुलिस ने शव को बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए गोपालगंज भेज दिया है। थानाध्यक्ष ने बताया कि इस मामले में मृतक के पिता द्वारा छठू बैठा व उसकी पत्नी तथा रमेश बैठा के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। घटना के बाद से तीनों अभियुक्त फरार बताए गए हैं। घटना का कारण पूर्व से चल रहा विवाद बताया गया है। वैसे पुलिस अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सकरा में सड़क हादसे में मां-बेटे की मौत