DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नई प्रक्रिया से आसान हुई बीएड काउंसिलिंग

बीएड काउंसिलिंग के दूसरे दिन 681 अभ्यर्थियों ने पंजीकरण कराया। इन्हें महाविद्यालयों के ऑनलाइन विकल्प चयन के लिए सोमवार को बुलाया गया है। महाविद्यालय आवंटन का पत्र मंगलवार को दिया जाएगा। इसी तरह शनिवार को 478 अभ्यर्थियों ने पंजीकरण कराया था।ड्ढr रविवार को इनसे ऑनलाइन विकल्प भरवाए गए। इन्हें आवंटन पत्र सोमवार को दिया जाएगा। लविवि स्थित स्वर्ण जयंती छात्रावास केन्द्र में हो रही काउंसिलिंग के सहसमन्वयक डॉ. अनिल मिश्रा ने बताया कि इस बार काउंसिलिंग को तीन भागों में विभक्त करने से आसानी हो रही है और काम भी जल्दी ही निपट जा रहा है। दूसरी तरफ फैजाबाद व बरेली केन्द्र में परीक्षा देने वाले अभ्यर्थियों को लखनऊ आकर काउंसिलिंग के लिए रुकना भारी पड़ रहा है। प्रवेश हुआ नहीं,लेने लगे अच्छे नम्बरों का ‘ठेका’ड्ढr ‘सर! हम एडमिशन तो आपके कॉलेज में ले लें लेकिन अच्छे नम्बर मिल जाएँगे।’ड्ढr ‘हाँ, हाँ क्यों नहीं! हमारे यहाँ बहुत अच्छी पढ़ाई होती है, शहर से दूर है इसलिए कैम्प लगाया है।’ड्ढr ‘नहीं सर, थ्योरी में तो हो जाएगा लेकिन प्रैक्िटकल में अच्छे नम्बर देने की गारंटी लें तो..।’ड्ढr ‘ठीक है तुम एडमिशन लो सब हो जाएगा! मेरा फोन नम्बर नोट कर लो और रजिस्टर में अपना नाम, पता व फोन नम्बर लिख दो।’ड्ढr लविवि के बीएड काउंसिलिंग केन्द्र के बाहर इस बार एक कॉलेज ने प्रचार के लिए अपना कैम्प लगाया है। इस कैम्प में बैठे कॉलेज के प्रतिनिधि छात्रों के बीच प्रचार के साथ उनसे इकबालिया ‘करार’ भी कर रहे हैं। कॉलेज ने इसके लिए विश्वविद्यालय प्रशासन से कोई अनुमति नहीं ली है। केन्द्र समन्वयक डॉ. अमिता वाजपेई का कहना है कि केन्द्र के बाहर छात्रों को जानकारी देने के लिए कॉलेजों के कैम्प लगाने पर कोई पाबंदी नहीं है। पहली काउंसिलिंग के समय भी एक कॉलेज ने कैम्प लगाया था। वे छात्रों से क्या वादे कर रहे हैं इसकी उन्हें जानकारी नहीं है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: नई प्रक्रिया से आसान हुई बीएड काउंसिलिंग