अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सूबे में बिजली संकट गहराया

रविवार की रात फरक्का की एक यूनिट के बैठ जाने से सूबे में बिजली संकट गहरा गया। सूबे का कोटा लगभग 120 मेगावाट घट गया। हालांकि दिनभर सूबे को 855 मेगावाट बिजली मिली। रात में फरक्का की पांच सौ मेगावाट की पांचवी इकाई के बैठ जाने पर सूबे का कोटा घटकर 716 मेगावाट पर आ गया। बरौनी व कांटी से लगभग सौ मेगावाट बिजली मिली। हालांकि बिजली संकट के बावजूद राजधानी का कोटा कम नहीं किया गया।ड्ढr उधर पूर राज्य में बिजली के लिए हाहाकार मच गया। कई शहर अंधेरे में डूब गए। ग्रामीण इलाकों में तो स्थिति और भी बुरी रही। विद्युत बोर्ड के प्रवक्ता एसके घोष ने बताया कि बरौनी से 55 व कांटी से 45 मेगावाट बिजली मिली है। उनके अनुसार पेसू का कोटा कम नहीं किया गया है। पेसू के महाप्रबंधक राजनाथ सिंह ने बताया कि आवंटन पूरा रहने से शहर में बिजली की आपूर्ति सामान्य रही। कथासंग्रह ‘मझधार’ का लोकार्पणड्ढr पटना (का.सं.)। दूरदर्शन, पटना के निदेशक व कथाकार शशांक ने रविवार को वयोवृद्ध कथाकार सुखदेव नारायण की सद्य:प्रकाशित पुस्तक ‘मझधार’ का लोकार्पण किया। चंद्रकुंता फाउंडेशन,बसंतपुर (सुपौल) के तत्वावधान में सिन्हा लाइब्रेरी के सभागार में आयोजित लोकार्पण सह सम्मान समारोह को संबोधित करते हुए श्री शशांक ने मझधार को हिन्दी कथा साहित्य में श्रीवृद्धि की संज्ञा दी। उन्होंने कहा कि नब्बे के दशक छूते हुए कथाकार से साहित्य साधना की प्रेरणा मिलती है।इस मौके पर तीन दिवंगत कथाकारों प्रो.लक्ष्मी नारायण ,डा.आर ईसरी व अवध बिहारी प्रसाद को सम्मानित भी किया गया। न्यास के मुख्य ट्रस्टी सुखदेव नारायण ने स्वागत भाषण करते हुए कहा कि मैं यहां हूं, इंद्रधनुष के बाद कथा संग्रह ‘मझधार’ उनकी तीसरी कृति है। अध्यक्षीय भाषण में नृपेन्द्रनाथ गुप्त ने कहा कि सुखदेव बाबू ने अपनी कथाओं में गांव के परिवेश का बढ़िया वर्णन किया है। महिला सशक्तीकरण, बालश्रम व दलित क्रांति को कथा का विषय वस्तु बनाया गया है। इस मौके पर रिटायर्ड आईएएस अधिकारी जियालाल आर्य, कथाकार उषाकिरण खां,डा.रामशोभित प्रसाद सिंह आदि ने पुस्तक पर अपने विचार रखे। संचालन डा.शाहिद जमाल ने किया। इस अवसर पर रामकरण पाल, बलभद्र कल्याण,प्रो.बीएन विश्वकर्मा, डा.राधाकृष्ण सिंह व लक्ष्मी सहाय भी उपस्थित थीं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सूबे में बिजली संकट गहराया