DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दिल्ली में माकपा कार्यालय पर संघ-भाजपा का हमला

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ व भाजपा कार्यकर्ताआें ने रविवार को माक्र्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के मुख्यालय पर हमला किया और जमकर तोड़फोड़ की। इस दौरान संघ व माकपा कार्यकर्ताआें के बीच हुए संघर्ष में 10 लोग घायल हो गए। संघ ने केरल के कन्नूर में माकपा के कार्यर्ताआें द्वारा संघ और भाजपा के कार्यकर्ताआें पर किए गए जानलेवा हमले की कड़ी निंदा करते हुए कहा कि माकपा के अलोकतांत्रिक और फासिस्ट तरीकों को बर्दाशत नहीं किया जाएगा तथा इसका कड़ा मुकाबला किया जाएगा।ड्ढr ड्ढr दूसरी आेर माकपा मुख्यालय पर प्रदर्शन व पथराव की माकपा व कांग्रेस के नेताआें ने तीखी निंदा की है। माकपा नेता सीताराम येचुरी व कांग्रेस की अम्बिका सोनी ने इसे साम्प्रदायिक ताकतों का हमला करार दिया है। सूत्रों ने बताया कि संघ और भाजपा कार्यकर्ताआें ने राजधानी के ए.के. गोपालन भवन स्थित माकपा मुख्यालय पर सुबह 11 बजे उस वक्त हमला किया, जब माकपा की केंद्रीय समिति की बैठक चल रही थी। उल्लेखनीय है कि केंद्रीय समिति की बैठक पिछले तीन दिनों से चल रही है। सूत्रों ने बताया कि संघ और भाजपा कार्यकर्ताआें ने जमकर तोड़फोड़ और पथराव किया। इस हमले में माकपा की दिल्ली प्रदेश इकाई के सचिव योगेंद्र शर्मा और केंद्रीय समिति के सदस्य पुष्पेंद्र सहित 10 लोगों के घायल होने की खबर है। घायलों को अस्पताल ले जाया गया है। हमले में मौके पर मौजूद कुछ पत्रकारो को भी चोटें आई हैं। सूत्रों के अनुसार जब हमलावर पथराव और तोड़फोड़ कर रहे थे, उस वक्त वहां पुलिस भी मौजूद थी। इस घटना को केरल के कन्नूर जिले में भाजपा और माकपा कार्यकर्ताआें के बीच हुए संघर्ष से जोड़कर देखा रहा है। इस बीच, संघ के कार्यकारी मंडल के वरिष्ठ सदस्य राम माधव ने कहा कि पिछले सप्ताह केरल में संघ के पांच कार्यकर्ताआें की नृशंस हत्या कर दी गई तथा 12 लोग गंभीर रुप से घायल हो गए और 200 से अधिक मकानों में तोड़फोड़ किए गए।ड्ढr ड्ढr उन्होंने कहा कि केरल में संघ तथा कुछ राष्ट्रवादी ताकतों के बढ़ते प्रभाव के कारण माकपा ने राज्य सरकार के परोक्ष समर्थन से संघ कार्यकर्ताआें पर जानलेवा हमले किए हैं। माधव ने कहा कि संघ माकपा के ऐसी अलोकतांत्रिक और फासिस्ट कार्रवाई का कड़ा जवाब देगा। उन्होंने कहा कि केरल में पिछले कुछ वर्षों से माकपा ने संघ के कार्यकर्ताआें पर हिंसक कार्रवाई का सिलसिला शुरु कर दिया है और अगले सप्ताह 14 से 16 मार्च तक उत्तर प्रदेश में वृंदावन में आयोजित संघ की अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल प्रतिनिधिसभा की बैठक में इस पर विचार-विमर्श किया जाएगा तथा इसका जवाब देने की रणनीति तय की जाएगी। माधव ने कहा कि केरल में शांति बहाली के लिए वहां की राज्य सरकार अपनी आेर से कोई प्रयास करेगी तो संघ सहयोग दे सकता है लेकिन संघ माकपा से कोई बातचीत नहीं करेगा, क्योंकि अब तक का संघ का पिछला अनुभव इसके ठीक विपरीत है, क्योंकि माकपा शांतिप्रयासों में विश्वास ही नहीं करती है। उन्होंने कहा कि संघ माकपा के आतंक के सामने कभी झुकने वाला नहीं है और उसका कड़ा प्रतिरोधी करेगा। उन्होंने कहा कि केरल में माकपा द्वारा संघ के कार्यकर्ताआें पर हुए हमलों के विरोध में हिंदू मंच द्वारा यहां माकपा मुख्यालय पर विरोध प्रदर्शन किया गया। माधव ने आरोप लगाया कि इस विरोध प्रदर्शन के दौरान माकपा मुख्यालय से प्रदर्शनकारी कार्यकर्ताआें पर पथराव किया गया, जिसमें 15 से 20 कार्यकर्ता घायल हुए हैं। दूसरी आेर हिन्दू मंच दिल्ली प्रदेश ने केरल में माक्र्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी सरकार के कथित समर्थन से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और अन्य हिन्दू संगठनों के कार्यकर्ताआें पर जानलेवा हमले की कड़ी निन्दा और भर्त्सना की है। मंच ने आरोप लगाया है कि समूचे केरल में वहां के पुलिस अधिकारियों के कथित आपराधिक संरक्षण में माकपाइयों ने संघ के कार्यकर्ताआें पर जानलेवा हमले किए जिसमें संघ के पांच प्रमुख कार्यकर्ताआें की मौत हो गई और अनेक कार्यकर्ता गंभीर रुप से घायल हो गए। हिन्द ूमंच ने चेतावनी दी है कि यदि इन हमलों को रोकने के लिए आवश्यक कार्रवाई नहीं की गई तो अन्य शांतिप्रिय और लोकतांत्रिक शक्ितयों के साथ मिलकर समूचे देश में एक प्रचंड जनआंदोलन किया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: दिल्ली में माकपा कार्यालय पर संघ-भाजपा का हमला