DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पहले झारखंड अच्छा था,अब बिहार: नीतीश

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि पहले झारखंड अच्छा था, अब बिहार। दो साल में स्थितियां बदल गयीं। रविवार को कोहिनूर मैदान में जदयू की झारखंड बचाओ रैली में उन्होंने कहा कि झारखंड में सड़कों का कायाकल्प हो गया था। अब बिहार की स्थिति सुधरी है। उन्होंने झारखंड को बदलने के लिए पार्टी से संघर्ष करने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि भले राज्य बंट गया, लेकिन अपनापन नहीं गया है। जदयू के अध्यक्ष शरद यादव ने कहा कोड़ा को हटाये बिना राज्य की तबाही बंद नहीं होगी। उन्होंने यहां के विधायकों को साथ चलने की नसीहत दी। राधाकृष्ण किशोर ने कहा कि नीतीश कुमार ने बालू को सोना बना दिया और कोड़ा ने सोना को बालू। रमेश सिंह मुंडा ने कहा कि जब तक झारखंड लाश नहीं बन जाता, लालू इसे छोड़ेंगे नहीं। बिहार के ऊर्जा मंत्री बिजेन्द्र प्रसाद यादव ने कहा कि राज्य पैसे से नहीं, नेतृत्व से बनता है। रैली को विधायक खीरू महतो, पूर्व मंत्री मधु सिंह, पूर्व विधायक दशरथ सिंह ने भी संबोधित किया। संचालन पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष जलेश्वर महतो ने किया।ड्ढr बाद में मीडिया से बातचीत में नीतीश ने महाराष्ट्र में बिहारियों के खिलाफ हो रहे विषवमन पर केंद्र सरकार की चुप्पी को रहस्यमय बताया। उन्होंने कहा कि इससे लगता है कि इस साजिश के पीछे कांग्रेस का हाथ है। बिहार में राज्यसभा चुनाव को ले कर भाजपा के साथ सीटों के तालमेल पर उन्होंने कहा कि यह सब पहले से ही तय है। झारखंड में रास चुनाव पर पार्टी के रुख के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि यह प्रदेश नेतृत्व को तय करना है।ड्ढr मुख्यमंत्री बनने के बाद पहली बार झारखंड के किसी राजनीतिक कार्यक्रम में आये नीतीश कुमार बिहार पुलिस के सुरक्षा घेरे में रहे, हालांकि झारखंड पुलिस भी उनकी सुरक्षा में थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पहले झारखंड अच्छा था,अब बिहार: नीतीश