अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्टूडियो और जेरोक्स दुकानों की चांदी

रांची नगर निगम चुनाव ने शहर के स्टूडियो के लिए गिफ्ट लेकर आया है। उनकी आज कल चांदी बतायी जा रही है। हर मोड़-मोड़ पर प्रत्याशियों को होनेवाले तसवीरों की जरूरतों ने उन्हें यह मौका उपलब्ध कराया है। एक अनुमान के तहत रांची में 30-35 स्टूडियों हैं।ड्ढr प्रत्याशियों की संख्या 1206 है। हर प्रत्याशी को प्रचार के लिए फोटो की जरूरत है। खास कर अखबारों के लिए उनकी यह जरूरत और बढ़ गयी है। इससे राजधानी के स्टूडियों में अप्रत्याशित भीड़ लगने लगी है और यह उनके लिए कमाई का जरिया साबित हो रहा है। कुछ यही हाल जेरोक्स दुकानों का भी है। हर दुकान पर मतदाता सूचियों का जेरोक्स करानेवालों की अप्रत्याशित भीड़ जुट रही है।ड्ढr एक दुकानदार ने आंकड़े में बताया कि मेयर और उप मेयर पद के प्रत्याशियों को 860 बूथों के लिए मतदाता सूचियों की कॉपी करानी है। इसी तरह प्रत्येक वार्ड में औसतन 15 उम्मीदवारों को भी मतदाता सूची के एक सेट का 10-15 सेट तक फोटो कॉपी करानी है।ड्ढr इससे उम्मीदवारों की जहां जेबें ढीली हो रही है, वहीं जेरोक्स दुकानदारों की उसी अनुरूप भरती जा रही है। चुनाव प्रचार में तीसरा मजा फ्लैक्स (बैनर-पोस्टर) बनानेवाले दुकानों का भी है। लगभग 1400 प्रत्याशियों में पॉकेट से मजबूत प्रत्याशी अब फ्लैक्स बनवाने पहुंचने लगे हैं। फ्लैक्स निर्माताओं का कहना है कि अभी इसमें खूब तेजी नहीं आयी है। एक-दो दिनों के भीतर यह परवान चढ़ेगा, जिसका पॉजिटव असर इस व्यवसाय पर पड़ेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: स्टूडियो और जेरोक्स दुकानों की चांदी