DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चुनाव चिह्न् का प्रतीक लेकर घूम रहे प्रत्याशी, कई चीजों की बढ़ी कीमत

चुनाव प्रचार में अब असली चुनाव चिह्न् के साथ उतरने की प्रत्याशियों में मची होड़ ने नकदी ऊपज में आनेवाली फसलों गाजर, नारियल, बैंगन, केला के भाव बढ़ा दिये हैं। चुनाव आयोग की मेहरबानी से जिन्हें चुनाव चिह्न् के रूप में गाजर मिले हैं, वे थोक भाव से गाजर खरीद कर गाजर खा रहे हैं और खिला भी रहे हैं। ताकि गाजर चुनाव चिह्न् मतदाताआें की नजरों से आेझल न हो। केला, बैंगन, नारियल चुनाव चिह्न्वाले भी इन असली सामान को लेकर मतदाताआें के पास पहुंच रहे हैं। छोटे आइटम लेडीज पर्स, कैंची, टोकरी, ब्रश, चश्मा चुनाव चिह्न्वाले प्रत्याशी भी इसमें पीछे नहीं हैं। कोई प्रत्याशी ये सामान उठाये तो कोई लटकाये चले आ रहे हैं। लेकिन जिन्हें भारी-भरकम चुनाव चिह्न् मिल गया है, वे चुनाव आयोग को जमकर कोस रहे हैं और हांफते-हांफते ही सही हैंड पंप, सिलाई मशीन, गैस चूल्हा, टेलीविजन के साथ मतदाताआें तक पहुंच रहे हैं। हाल तो बुरा उनका है, जिनसे चुनाव आयोग वायलन और हारमोनियम बजवा रहा है और खटिया देकर घर में ही उसे बिछवा रहा है। बेचारे खटिया लेकर बाहर जायें भी, तो जायें कैसे। बिजली का खंभा पाने वालों को भी खंभा करंट लगा रहा है। सबसे मजेदार स्थिति तो उन प्रत्याशियों की है, जिनमें से किसी को उसने चुनाव चिह्न् चम्मच के बदले उलटा चम्मच और आइसक्रीम के बदले सॉफ्टी और मोमबत्ती के बदले मोमबत्तियां थमा दी है। उक्त चुनाव चिह्न् पानेवालों ने अपनी आपत्ति भी दर्शायी थी, पर जब कुछ हल नहीं निकला तो सीधा चम्मच खरीदकर उल्टा दिखा रहे हैं, तो कोई आइसक्रीम को सॉफ्टी बता रहे हैं। एक प्रत्याशी को कोहड़ा चुनाव चिह्न् मिला, तो उसने इतने कोहड़े खरीद लिये कि बाजार में उसकी कमी हो गयी। कई लोगों ने बाजार में पर्याप्त मात्रा में सामान उपलब्ध नहीं रहने पर विशेष तौर पर आपूर्ति आदेश दुकानदारों को दिया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: चुनाव चिह्न् का प्रतीक लेकर घूम रहे प्रत्याशी, कई चीजों की बढ़ी कीमत