अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नकल माफिया पर रासुका तो राजधानी में भी लगना चाहिए!

यूपी बोर्ड परीक्षाआें में पैसा तो राजधानी के स्कूलों में भी माँगा जा रहा है। विद्यार्थियों व अभिभावकों की ऐसी ढेरों शिकायतें शिक्षा विभाग के अधिकारियों के पास आ रही हैं लेकिन अफसर फिलहाल कोई कार्रवाई करते नहीं दिखाई दे रहे जबकि प्रदेश के ही कौशाम्बी जिले में ऐसी शिकायतों पर रासुका लगाने की तैयारी है।ड्ढr यूपी बोर्ड परीक्षाआें में राजधानी में ही करोड़ों रुपए के कारोबार की बात हर बार उठती है। पैसा लेकर नकल कराने वाले शिक्षक और प्रबन्धक पकड़े भी जाते हैं। इस बार तो बोर्ड परीक्षाआें की शुरुआत में ही बच्चों पर दबाव बनाकर पैसा माँगने की शिकायतें आने लगी हैं। जो बच्चा पैसा देता है तो उसे नकल कराई जाती है और जो नहीं देता उसे प्रताड़ित किया जाता है। लखनऊ में जिला विद्यालय निरीक्षक, संयुक्त शिक्षा निदेशक और निदेशक को जो अभिभावकों ने जो चिट्ठी लिखी है उसका मजमून कुछ इस प्रकार है-‘मेरा भी बच्चा वहाँ परीक्षा दे रहा है, उससे भी पैसा माँगा जा रहा है। जिनसे पैसा नहीं मिलता उन्हें इधर-उधर देखने तथा पेशाब तक नहीं करने देते।’ इस तरह की शिकायतों से भरी कई चिट्ठियाँ लखनऊ के जिला विद्यालय निरीक्षक और संयुक्त शिक्षा निदेशक को भेजी जा रही हैं। कुछ चिट्ठियाँ लोग सीधे भेज रहे हैं तो कुछ लोग डाक से। फोन पर कंट्रोल रूम में तो रोजाना ही ऐसी दर्जनों शिकायतें आती हैं। इन शिकायतों में कितनी सच्चाई है यह तो जाँच का विषय है लेकिन कार्रवाई तो होनी ही चाहिए। खुद कई स्कूंल प्रबन्धक और शिक्षक नेता इस बात को स्वीकार करते हैं कि पैसे माँगे जा रहे हैं। माध्यमिक शिक्षक संघ शर्मा गुट के राज्य परिषद सदस्य डॉ. आरपी मिश्र और अमीनाबाद इण्टर कॉलेज के प्रधानाचार्य डॉ. जेपी मिश्र कहते हैं कि खुलेआम पैसा माँगा जा रहा है। बच्चों को पैसा देने के लिए मजबूर किया जा रहा है। राजधानी में सुनियोजित ढंग से नकल का बड़ा कारोबार हो रहा है जो नकल के गढ़ कौशाम्बी से कम नहीं है। अन्तर सिर्फ इतना है कि इसमें शिक्षाधिकारियों की मिलीभगत है और काफी योजनाबद्ध तरीके से यह खेल हो रहा है। इसमें कड़ी से कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए। जिला विद्यालय निरीक्षक गणेश कुमार कहते हैं कि फिलहाल उनके संज्ञान में ऐसी शिकायतें नहीं आई हैं। यदि शिकायतें आती हैं तो वे निश्चित रूप से उन पर कठोर कार्रवाई की जाएगी। ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: नकल माफिया पर रासुका तो राजधानी में भी लगना चाहिए!