DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कर्मचारी बोले-सुन ले सरकार, अब आर-पार

नेपाल हाउस के बाहर चप्पे-चप्पे पर तैनात थी पुलिसड्ढr रांची। नेपाल हाऊस के पास आत्मदाह की घोषणा करनेवाले चतुर्थवर्गीय कर्मी रतन कुमार चौधरी को पुलिस ने सोमवार को प्रात: पकड़ कर दिन भर हिरासत में रखा। आत्मदाह की घोषणा के कारण नेपाल हाउस के आसपास सशस्त्र पुलिस बल की तैनाती की गयी थी। पुलिस को प्रशासन की आेर से हिदायत मिली थी कि नेपाल हाऊस के समीप कोई व्यक्ित केरोसिन या पेट्रोल लेकर नहीं पहुंचने पाये।ड्ढr अधिकारी और कर्मचारी बाहर घूमते नजर आयेड्ढr रांची। सोमवार को नेपाल हाउस का मुख्य द्वार तो खुला था, लेकिन अधिकारी और कर्मचारी बाहर घूमते नजर आये। नेपाल हाऊस में श्रम व नियोजन विभाग के सचिव एसके चौधरी ही बैठे नजर आये। जल संसाधन सचिव डीके चौधरी और ऊर्जा सचिव आदित्य स्वरूप अपने-अपने सचिव कोषांग आये, लेकिन कुछ देर रहने के बाद चल दिये। उद्योग विभाग के निदेशक आये, लेकिन माहौल देख वहां से चल दिये। इधर नेपाल हाउस में सोमवार को हड़ताल के बावजूद श्रम एवं नियोजन विभाग में सेक्रेटरी सेल के बाहर सहायक आपाधापी कर हाजरी बनाते देखे गये।ड्ढr कर्मचारी नेताआें ने कार्यालय बंद करायेड्ढr रांची। सचिवालय कर्मचारी संघ के नेता राजेश्वर चौधरी, अशोक चंद्रवंशी और शंकर राम नेपाल हाऊस से सटे झारखंड खनिज विकास निगम कार्यालय, प्रमंडलीय सिंचाई विभाग के कार्यालय और ऊर्जा विभाग के स्थानीय कार्यालयों मंे जाकर तालाबंदी की और कर्मचारियों को बाहर निकाला और हड़ताल में शामिल होने की अपील की।ड्ढr सफदरजंग अस्पताल में भृगुनाथ से मिले राज्यपालड्ढr रांची। राज्यपाल सैयद सिब्ते रजी ने सोमवार को आत्मदाह करनेवाले चतुर्थवर्गीय कर्मचारी भृगुनाथ पांडेय से नयी दिल्ली स्थित सफदरजंग अस्पताल में मुलाकात की। उनकी कार्यकुशलता और इलाज के बारे में जानकारी ली। अस्पताल के अधीक्षक डॉ जे प्रसाद ने बताया कि चिकित्सकों का प्रयास है कि वह शीघ्र स्वास्थ्य लाभ कर घर लौटे। श्री रजी कर्मचारी के परिवार के सदस्यों से भी मिले। उनके शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना की। अतीश झा को अस्पताल से मिली छुट्टीड्ढr रांची। आत्मदाह करनेवाले कर्मचारी अतीश झा को अस्पताल से छुट्टी दे दी गयी है। उनका इलाज रिम्स में चल रहा था। श्री झा ने बताया कि अभी भी उनकी गर्दन में दर्द है। चिकित्सकों ने दवाएं दी हैं। इधर, नयी दिल्ली स्थित सफदरजंग अस्पताल में भरती भृगुनाथ पांडेय की स्थिति गंभीर बनी हुई है। उनके पारिवारिक सूत्रों ने बताया कि चिकित्सक संक्रमण रोकने का प्रयास कर रहे हैं। उन्हें काफी समय तक अस्पताल में रहना पड़ सकता है। सनद रहे कि एसीपी लाभ और बकाया बोनस भुगतान की मांग को लेकर इन कर्मचारियों ने खुद को आग लगा ली थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कर्मचारी बोले-सुन ले सरकार, अब आर-पार