DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चुनावी डय़ूटी से अलग हुईं महिलाएं

अब महिलाकर्मी चुनाव संबंधी डय़ूटी में भाग नहीं लेगी। आयोग के द्वारा चुनाव कार्यो में पंचायत शिक्षक की नियुक्ति के आदेश के बाद ट्रेनिंग संबंधी आदेश प्राप्त कर चुकी महिलाओं ने राहत की सांस ली है। एक सप्ताह पूर्व सरकारी सेवा में कार्यरत लगभग 700 महिलाओं को चुनाव की ट्रेनिंग में भाग लेने संबंधी आदेश दिया गया। पहली बार इस प्रकार का पत्र थामे इन महिलाकर्मियों को चुनाव कराने को लेकर संशय बना हुआ था। लेकिन आयोग के पंचायत शिक्षकों की नियुक्ति के निर्देश के बाद मतदानकर्मियों की संख्या पर्याप्त हो गयी है। जिला निर्वाचन पदाधिकारी ने बताया कि अब महिलाओं को चुनाव कार्य से मुक्त कर दिया गया है।ड्ढr ड्ढr अखिलेश, लवली व साधु ने भर पर्चेड्ढr मुजफ्फरपुर (हि.टी.)। दूसर चरण के लोकसभा चुनाव के लिए नामांकन प्रक्रिया के अंतिम दिन होने के चलते शनिवार को काफी गहमा-गहमी रही। आज केन्द्रीय मंत्री डॉ. अखिलेश सिंह, सांसद साधु यादव तथा पूर्व सांसद लवली आनंद सहित कई अन्य उम्मीदवारों ने नामांकन पत्र भरा। पूर्वी चम्पारण लोकसभा सीट से केन्द्रीय मंत्री डॉ. अखिलेश प्रसाद सिंह ने राजद प्रत्याशी के रूप में नामांकन पत्र दाखिल किया। उनके अलावा गविपा के पुष्कर झा व पांच निर्दलीय उम्मीदवारों ने भी नामांकन भरा। यहां से कुल 14 प्रत्याशी मैदान में हैं। प. चम्पारण संसदीय क्षेत्र से साधु यादव ने कांग्रेस प्रत्याशी के रूप में पर्चा दाखिल किया। पूर्व सांसद फैयाजुल आलम (ाद-एस), मनोज कुमार (राष्ट्रीय देहात मोर्चा पार्टी), तारकेश्वर प्रसाद (इंडियन जस्टिस पार्टी) समेत छह अन्य ने भी नामांकन किया।ड्ढr कल राज्यसभा से इस्तीफा देंगे दिग्विजय सिंहड्ढr बांका (हि.प्र.)। वरिष्ठ जदयू नेता एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री दिग्विजय सिंह राज्य सभा की सदस्यता से इस्तीफा देंगे। श्री सिंह ने शनिवार को यहां कहा कि वे बांका संसदीय क्षेत्र से लोकसभा चुनाव लड़ेंगे। अत: उनके लिए अब राज्य सभा का सदस्य बने रहने का कोई औचित्य नहीं है। उन्होंने कहा कि वे सोमवार को अपना इस्तीफा राज्यसभा के सभापति को सौंपेंगे। इसके लिए वे दिल्ली रवाना हो गए। श्री सिंह 2005 में झारखंड से राज्य सभा सदस्य चुने गये थे। उनका कार्यकाल अभी करीब डेढ़ वर्ष बाकी है। उन्होंने कहा कि वे बांकावासियों के मान-सम्मान और मर्यादाओं की रक्षा के लिए चुनाव लड़ेंगे।ड्ढr अखिलेश के पास अब भी गाड़ी नहींड्ढr मोतिहारी (न.सं.)। मोतिहारी के सांसद व केन्द्रीय राज्यमंत्री डॉ. अखिलेश प्रसाद सिंह के पास पांच वर्ष पूर्व भी कोई मोटरगाड़ी नहीं थी और पांच साल मंत्री रहकर भी यही हाल है। ये अलग बात है कि खुद पचास हाार की अंगूठी पहनते हैं। उनकी पत्नी वीणा सिंह के पास दो लाख से अधिक के जेवर हैं। उनके पास नकद राशि डेढ़ लाख तो पत्नी के पास पौने तीन लाख है। डॉ. सिंह ने शनिवार को बतौर राजद प्रत्याशी पूर्वी चम्पारण लोक सभा के लिए नामांकन के वक्त दाखिल अपने हलफनामे में किया है। उनके पास नकद राशि डेढ़ लाख तो पत्नी के पास पौने तीन लाख है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: एक नजर