DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बीजिंग ने किया प्रदूषणरहित ओलंपिक का वादा

मैराथन रिकॉर्ड होल्डर हेल गेब्रेसेलासी के हटते ही बीजिंग जाग गया। उसने ओलंपिक के प्रदूषण रहित होने का वादा करते हुए एथलीटों को स्वच्छ हवा मुहैया कराने का वादा किया। प्रदूषण के के डर से गेब्रेसेलामी ने ओलंपिक से अपना नाम वापस लिया है। स्टेट एन्वायरनमेंट प्रोटेक्शन एडमिनिस्ट्रेशन के डिपुटी चीफ झांग लियुन ने कहा कि उन्हें राजधानी और आस-पास के पांच प्रांतों के लिए तैयार की गई प्रदूषण-रहित योजना पर पूरा विश्वास है। उन्होंने कहा, हमारे विशेषज्ञों का कहना है कि आेलम्पिक खेलों के दौरान हवा की स्वच्छता और गुणवत्ता की गारंटी ली जा सकती है और सम्बन्धित योजना के अमल में आने पर एथलीटों को साफ हवा उपलब्ध कराने का हमारा संकल्प पूरा हो जाएगा। बीजिंग आेलम्पिक खेल आयोजकों ने मंगलवार को विश्वास जताया कि पर्यावरण में सुधार के लिए किया गया 16.8अरब रुपए का खर्च रंग लाएगा और एथलीटों को साफ हवा मिल सकेगी। गौरतलब है कि 42 किमी लम्बी मैराथन दौड़ में विश्व रिकार्डधारी इथियोपिया के गैब्रेसलासी ने कल यह कहते हुए वापस ले लिया था कि चीनी राजधानी में इन खेलों के दौरान खराब हवा की वजह से उनके स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ सकता है। गैब्रेसलासी दमा के मरीज भी हैं। 35 वर्षीय गैब्रेसलासी ने नाम वापस लेने का फैसला चिकित्सकों की सलाह के बाद लिया है। वह हालांकि 10 हजार मीटर की दौड़ के लिए क्वालीफाई करने की कोशिश करेंगे। वह इस दौड़ को पिछले आेलम्पिक खेलों में दो बार जीत चुके हैं। गैब्रेसलासी बीजिंग में हवा की निम्न गुणवत्ता की शिकायत करने वाले कोई पहले व्यक्ित नहीं हैं। इसके पहले कई एथलीट और अधिकारी भी चीनी राजधानी की हवा को लेकर आपत्ति दर्ज करा चुके हैं। अंतरराष्ट्रीय आेलम्पिक समिति (आईआेसी) के अध्यक्ष जैक्स रॉग ने पिछले साल कहा था कि स्थितियां अगर यादा खराब हुईं तो मैराथन और साइकिलिंग स्पर्धा के कार्यक्रम में बदलाव किया जा सकता है। सेपा के उप प्रमुख लिउन ने कहा कि बीजिंग के अलावा तियानजिन, हेबई, इनर मंगोलिया, शंघाई और शैंनडोंग शहरों में औद्योगिक प्रदूषण के स्तर को कम करने का काम दो चरणों में किया जा रहा है। लिउन ने कहा, प्रदूषण में कमी लाने और औद्योगिक ढांचे को व्यवस्थित करने के अभियान का यादातर काम पूरा किया जा चुका है और इसके जून तक खत्म हो जाने की उम्मीद है। झांग के सहयोगी वांग जियान ने पिछले महीने कहा था कि प्रदूषण में कमी लाने के अभियान का दूसरा चरण 27 जुलाई को आेलम्पिक खेल गांव के खुलने के साथ ही शुरू होगा और वह 20 सितम्बर को खत्म होने वाले पैरालम्पिक के बाद समाप्त होगा। झांग ने कहा, आेलम्पिक में बीजिंग, तियानजिन और हेबई के कुछ इलाकों में औद्योगिक उत्पादन में कमी करने के अलावा कुछ इकाइयों को बंद भी किया जा सकता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बीजिंग ने किया प्रदूषणरहित ओलंपिक का वादा