DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हड़ताल से हो सकती हैं हवाई सेवाएं ठप

हवाई अड्डा कर्मचारियों की मंगलवार रात से शुरू होने वाली हड़ताल के मद्देनजर यात्रियों को परेशानी उठानी पड़ सकती है, जबकि नागरिक उड्डयन मंत्रालय और हवाई अड्डा प्राधिकरण ने दावा किया है कि हड़ताल से निपटने के लिए आपात योजना तैयार कर ली गई है। दिल्ली में हवाई अड्डे के आधुनिकीकरण के चक्कर में यात्रियों को पहले ही भारी परेशानी झेलनी पड़ रही है। ऊपर से कर्मचारियों की हड़ताल से उन्हें और भी परेशानी होगी। कर्मचारियों की मांग है कि बेंगलुरु और हैदराबाद में बने नए हवाई अड्डों के साथ ही पुराने हवाई अड्डों को भी चालू रखा जाए। उन्हें इन हवाई अड्डों पर तैनात कर्मचारियों के भविष्य को लेकर भी आशंका है। इन दोनों ग्रीनफील्ड हवाई अड्डों में मौजूदा कर्मचारियों को खपाने के मुद्दे पर कर्मचारियों में नाराजगी है। दूसरी ओर सरकार ने साफ कर दिया है कि नए हवाई अड्डों के आपरेटरों के साथ समझौते के तहत इन दोनों शहरों के पुराने हवाई अड्डों को बंद कर दिया जाएगा। हवाई अड्डा कर्मचारी संयुक्त यूनियन के झंडे तले करीब 12 हजार कर्मचारी देश भर के हवाई अड्डों पर हड़ताल करेंगे। हड़ताल में एयर ट्रैफिक कंट्रोल के लोग शामिल नहीं हैं। कर्मचारी संयुक्त मंच के महासचिव एम. के. घोषान ने बताया कि सरकार की धमकियों के बावजूद कर्मचारी हड़ताल करेंगे। सूत्रों के मुताबिक, सरकार ने कड़ा रुख अपनाते हुए दिल्ली में न केवल एस्मा लागू कर दिया है, बल्कि 21 हवाई अड्डों पर वायुसेना के 47लोगों को भी तैनात कर दिया है। कर्मचारी हड़ताल के बजाय असहयोग आंदोलन शब्द का प्रयोग कर रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: हड़ताल से हो सकती हैं हवाई सेवाएं ठप