अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राज्य सरकार ने एसईजेड के कई प्रस्ताव स्वीकारे

प्रदेश सरकार ने विशेष आर्थिक क्षेत्र (एसईजेड) के आधा दर्जन प्रस्तावों को स्वीकार कर लिया है और उन्हें अंतिम अनुमोदन के लिए केन्द्र सरकार के पास भेजा है। इसी के साथ मुख्य सचिव प्रशांत कुमार मिश्र ने एसईजेड के प्रस्तावांे के शीघ्र क्रियान्वयन के निर्देश दिए हैं।ड्ढr श्री मिश्र अपने सभा कक्ष में मंगलवार को एसईजेड के तहत गठित प्राधिकृत समिति की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने कहा कि नए प्रस्ताव अंतिम स्वीकृति के लिए जल्द ही भारत सरकार भेज दिए जाने चाहिए।ड्ढr बैठक में विशेष आर्थिक क्षेत्र में उद्यम स्थापित करने की इच्छुक कम्पनियों में अंसल प्रॉपर्टीज एंड इंफ्रास्ट्रक्चर द्वारा लखनऊ में आईटी और आईटीईएस सेक्टर व बायोटेक सेक्टर, मै. आईवीआर प्राइम द्वारा नोएडा में आईटी, मे. गोल्डन टावर इंफ्राटेक द्वारा नोएडा में आईटी सेक्टर, प्रोटो डेवेलपर्स एंड टेक्नालॉजी द्वारा गंगेहारा चंदौली में, मैक्स डीजी इंफोटेक द्वारा नोएडा में आईटी और आईटीईएस की स्थापना के प्रस्ताव दिए गए। समिति ने चार प्रस्तावों को औपचारिक और दो प्रस्तावों सैद्धांतिक स्वीकृति दी और उसे अंतिम अनुमोदन के लिए भारत सरकार के पास भेज दिया है।ड्ढr मे. अंसल द्वारा लखनऊ में 10.527 हेक्टेयर पर आईटी और 10 .633 हेक्टेयर पर बायोटेक सेक्टर, आईवीआर प्राइम द्वारा नोएडा के सेक्टर 144 में 10 हेक्टेयर, गोल्डन टावर द्वारा नोएडा में 10 हेक्टेयर, प्रोटो डेवलपर्स द्वारा चंदौली में 11.60 हेक्टेयर, इंटेग्रा लि. द्वारा डासना गाजियाबाद में 33.43 हेक्टेयर और डीजी इंफोटेक द्वारा नोएडा में 10 हेक्टेयर के प्रस्ताव दिए गए जिन्हें शासन ने यहाँ से अनुमोदित कर दिया है। बैठक में औद्योगिक विकास आयुक्त अतुल कुमार गुप्ता, औद्यागिक विकास सचिव अर्चना अग्रवाल समेत विभिन्न अधिकारी मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: राज्य सरकार ने एसईजेड के कई प्रस्ताव स्वीकारे