DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

संक्षिप्त खबर

हुसैनाबाद : टीपीसी ने पांच घर फूंकेड्ढr ड्ढr हुसैनाबाद (हिसं)। हुसैनाबाद थाना अंतर्गत झरगड़ा के यादव टोला में बीती रात टीपीसी उग्रवादियों ने भाकपा माआेवादी समर्थक बता एक परिवार के पांच भाइयों का घर फूंक डाला। इस आगजनी में करीब पांच लाख रुपये से अधिक की संपत्ति का नुकसान हुआ है। उग्रवादियों ने रामराज, कपिल, मुखराज, रामवरण तथा सीता यादव के घर को आग के हवाले कर दिया और नकद, आभूषण लूट कर फरार हो गये। उग्रवादियों ने सर्वप्रथम रामराज और सीता के घर धावा बोला। सभी सदस्यों को बाहर निकाल अनाज, कपड़ा, पलंग व अन्य सामानों में आग लगा दी। इसके बाद उग्रवादियों ने कपिल का घर फूंक दिया। फिर मुखराज तथा रामवरण के घर को जला डाला। मुखराज की पत्नी ने जब उग्रवादियों को आग लगाने से रोकने की कोशिश की, तो उसे भी आग में फेंक देने की धमकी दी गयी। ग्रामीणों के अनुसार उग्रवादी घर के मुखिया को खोज रहे थे। आगजनी के बाद पांचों घरों में खाने के लिए कुछ नहीं बचा है। घटना की सूचना मिलने पर हुसैनाबाद पुलिस झरगड़ा गांव पहुंची और स्थिति का जायजा लिया। उग्रवादियों की गिरफ्तारी के लिए छापामारी की जा रही है।ड्ढr 35 किलो कत्था के साथ चार महिलाएं गिरफ्तारड्ढr बरवाडीह (निसं)। बरवाडीह पुलिस के सहयोग से सोमवार की शाम को बभंडीह चौक के पास 35 किलो अवैध कत्था के साथ चार महिलाओं को गिरफ्तार किया है। पुलिस के अनुसार गिरफ्तार कत्था तस्करों में लातेहार के डुरुआगंज की किस्मती, हसीना, डुरुआ की हसीना और छिपादोहर की मीना शामिल हैं। पुलिस ने बताया कि ये चारों महिलाएं चैनपुर के हुंटार क्षेत्र से दो सौ रुपये किलो के हिसाब से उक्त अवैध कत्था को अन्य तस्करों से खरीदकर ट्रेन पकड़ने के लिए बरवाडीह स्टेशन जा रही थीं। पेयजल के नवनियुक्त 71 अभियंता पदस्थापित रांची। पेयजल एवं स्वच्छता विभाग ने नवनियुक्त 71 कनीय अभियंता (असैनिक) को पदस्थापित कर दिया है। इसकी अधिसूचना जारी कर दी गयी। योगदान देने के बाद विगत ढाई माह से ये पदस्थापन की प्रतीक्षा में थे।कहां गयेड्ढr अखिलेश कुमार सिंहगुमलाड्ढr प्रमोद सिन्हामेदिनीनगरड्ढr भरत प्रसादगढ़वाड्ढr जयप्रकाश यादवझुमरीतिलैयाड्ढr सुभाष कुमाररिनपासड्ढr मनोज पूर्वेगोड्डाड्ढr अनुप महतोचतराड्ढr पंकज कुमारहजारीबागड्ढr मनंत कुमार सिंहरामगढड़्ढr संजीव कुमारमुख्यालयड्ढr रावेल होरोमुख्यालयड्ढr विनोद कुजूरमुख्यालयड्ढr किरण किशोर लागुरीरांचीड्ढr अनिल लिंडामुख्यालयड्ढr नरोत्तम सिंह मुंडारामगढड़्ढr शिवकुमार बेदियाधनबाद-1ड्ढr सुनील मंडलजमशेदपुरड्ढr दिलीप मंडलगढ़वाड्ढr अरूण सिंहचतराड्ढr सुमन खलखोगिरिडीहड्ढr उमेश मंडलमधुपुरड्ढr अनिल कुमारचासड्ढr रविशंकरसरायकेलाड्ढr सुरेश तिग्गासाहेबगंजड्ढr आनंद दीक्षितरामगढड़्ढr देवेंद्र किस्कूजमशेदपुरड्ढr राजकमल सिंहरामगढड़्ढr अजय रायगुमलाड्ढr वीरेंद्र सिंहमेदिनीनगरड्ढr कुमार आनंदतेनुघाटड्ढr अजीत तिवारीलातेहारड्ढr अमित सिंहदेवघरड्ढr सिकंदर प्रसादगढ़वाड्ढr गौतम तूरीमेदिनीनगरड्ढr कमलनाथ मुंडारामगढड़्ढr रतन खलखोलोहरदगाड्ढr नामकहां गयेड्ढr काली चरण भगतसिमडेगाड्ढr जेम्स मुमरूदुमकाड्ढr सुमेलाल उरांवमेदिनीनगरड्ढr प्रेमनाथ उरांवहजारीबागड्ढr अश्विनीसरायकेलाड्ढr सोमा उरांवगिरिडीहड्ढr रामचंद्र उरांवचासड्ढr जयप्रकाश बड़ाईकलातेहारड्ढr पंकज पिंगुआलोहरदगाड्ढr जीतमोहन मुंडारांचीड्ढr सुनील बाखलागिरिडीहड्ढr कृष्णा लोहरागुमलाड्ढr जहेंद्र भगतलोहरदगाड्ढr श्रीराम उरांवचाईबासाड्ढr रोहित उरांवसिमडेगाड्ढr लक्ष्मी ना. सिंहमधुपुरड्ढr बबलू हांसदागिरिडीहड्ढr रामकुमार उरांवमेदिनीनगरड्ढr अनुपम लकड़ाहजारीबागड्ढr मणिकांतमधुपुरड्ढr लोको देवगमजमशेदपुरड्ढr बलदेव टुडूलातेहारड्ढr कामदेव उरांवचाईबासाड्ढr विष्णु कुजूरचक्रधरपुरड्ढr दिनेश एक्कागुमलाड्ढr जुएल मिंजलातेहारड्ढr नरेश मुमरूबोकारोड्ढr दिनेश उरांवमुख्यालयड्ढr मंगल सिंह बाहदालातेहारड्ढr अश्विनी सरदारसिमडेगाड्ढr बुधराम भगतगुमलाड्ढr बलदेव भगतरांचीड्ढr चांद हेंब्रमरामगढड़्ढr लखीराम मांझीरांचीड्ढr मोहन मंडलगिरिडीहड्ढr बरकट्ठा में पेंशन लेने आयी वृद्धा की मौतड्ढr बरकट्ठा (निसं)। बीओआइ शाखा बरकट्ठा में अपनी बारी का इंतजार कर रही बरकट्ठाडीह के चंद्रिका राणा की बूढ़ी मां पेंशन राशि मिलने के पहले ही भीड़ में गिर गयी और वहीं उसकी मौत हो गयी। वहीं भीड़ के कारण दो अन्य वृद्धाएं भी बैंक परिसर में ही बेहोश होकर गिर पड़ीं। ड्ढr मालूम हो कि 11 मार्च को बैंक आफ इंडिया शाखा में वृद्धा पेंशन, सामाजिक सुरक्षा पेंशन लेने आये वृद्धों के साथ आंगनबाड़ी की सेविका-सहायिकाआें की भीड़ लगी थी।कई कनीय अभियंता इधर से उधरड्ढr रांची। पेयजल एवं स्वच्छता विभाग ने कई कनीय अभियंताआें (असैनिक) को इधर से उधर कर दिया है।नामकहां थेकहां गयेड्ढr सरयू प्रसाद सिंहचतरागोड्डाड्ढr कमलदेव साहहजारीबागगोड्डाड्ढr गोपीकृष्णचतरादेवघरड्ढr बीरबल सिंह मुंडारांचीदुमकाड्ढr विजय सिंहरांचीदुमकाड्ढr अनिल सिंहरांचीदुमकाड्ढr रामेश्वर मिस्त्रीरांचीदुमकाड्ढr विद्यालाल दासचतरामधुपुरड्ढr नरेंद्र कुमार सिंहरांचीदुमकाड्ढr रामनरेश पावसानरांचीपाकुडड़्ढr सत्यनारायण पो.रांचीसाहेबगंजड्ढr विमलेंद्र सिंहरांचीसाहेबगंजड्ढr विनोद सिंहरांचीसाहेबगंजड्ढr मार्केडेय रायप्रतीक्षा मेंमधुपुरड्ढr राजेंद्र शुक्लखूंटीपाकुडड़्ढr नामकहां थेकहां गयेड्ढr बी प्रसादखूंटीदुमकाड्ढr रविंद्र दासखूंटीपाकुडड़्ढr राजेश कुमारखूंटीसाहेबगंजड्ढr अनिल सिन्हाखूंटीदुमकाड्ढr गोपाल सिंहखूंटीदुमकाड्ढr सुकोमल रायदुमकासिमडेगाड्ढr लालबाबू सिंहदुमका-2हजारीबागड्ढr गिरिश चंद्रदुमकाहजारीबागड्ढr अशोक कुमारदुमकाह सदरड्ढr अजय सरकारदुमकासिमडेगाड्ढr योगेंद्र हेंब्रमदुमकाचतराड्ढr मोहनलाल मंडलदुमका-2चतराड्ढr नित्यानंद चौरसियादुमका-1रामगढड़्ढr अनिल सिन्हादुमकाझुमरीतिलैया दुमका : हत्यारे पति की लाश मिलीड्ढr दुमका (ए.सं.)। 5 मार्च को जिस हत्यारोपी पति को कुछ लोगों ने खुंटा में बांधकर बेरहमी से पीटा था उस युवक अजरुन केवट की हत्या हो गयी है। युवक की लाश 11 मार्च को सुबह दुधानी मुहल्ले में पटेल लकड़ी मिल के पीछे एक झाड़ी से बरामद हुई है। दुमका मुफसिल थाना की पुलिस ने भीम केवट (मृतक के भाई) के बयान पर अजरुन केवट के ससुर बलदेव कापरी के विरुद्ध अपहरण और हत्या की प्राथमिकी दर्ज की गयी है। रिक्सा चालक अजरुन केवट की शादी पथरौल (मधुपुर) के बलदेव कापरी की पुत्री मीना देवी के साथ हुई थी। शादी के तीन साल बाद ही केवट दंपत्ति में अनबन शुरू हो गयी है। 3 मार्च को दोपहर बाद अजरुन केवट ने मीना देवी के बदन पर किरोसिन उड़ेल कर आग लगा दी । मीना ने पास के कुएं में छलांग लगा दी। पड़ोसियों ने उसे दुमका सदर अस्पताल में भर्ती किया। बोकारो इस्पात में ठेका मजदूरों की तीन दिवसीय हड़ताल शुरू, बोकारो (बोकारो कार्यालय)। एटक, इंटक राय गुट तथा एक्टू के आह्वान पर बोकारो इस्पात के ठेका मजदूरों की तीन दिवसीय हड़ताल के प्रथम दिन बोकारो इस्पता संयंत्र के विभिन्न विभागों में हड़ताल का मिला जुला असर रहा। वहीं दूसरी आेर प्रशासन द्वारा बोकारो इस्पात के गेटों पर पर्याप्त संख्या में सुरक्षा बल को तैनात करने के कारण किसी तरह की अप्रिया घटना अथवा जोर जबर्दस्ती कर काम पर जाने से रोकने की घटना नहीं घटी। हड़ताल के समर्थक श्रमिक संगठनों ने हड़ताल को सफल बताया है, वहीं प्रबंधन ने हड़ताल को बेअसर बताते हुए कहा है कि बोकारो इस्पात के काम काज पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा है। बोकारो इस्पात कामगार यूनियन के महामंत्री अनिरू ने हड़ताल को सफल बताते हुए कहा कि हड़ताल के कारण कोक आेवन में पुशिंग नहीं हुई तथा एसएमएस-1 एवं 2 में काम प्रभावित हुआ। मिल जोन में मात्र 170 क्वायल रोल हुआ तथा बीजीएच के सफाई कर्मचारी शत प्रतिशत हड़ताल में रहे। क्वायल डिस्पैच का काम भी बाधित रहा। बोकारो इस्पात के अन्य विभागों में हड़ताल का व्यापक असर पड़ा। ड्ढr 20-25 की संख्या में थे नक्सलीड्ढr चांडिल (निसं)। चौका मोड़ पर पुलिस की जवानों से हथियार लूट में शामिल नक्सलियों के दस्ते में तीन महिला नक्सली भी शामिल थे। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार जवानों से सिर्फ सात- आठ नक्सली ही हथियार लूट की घटना को अंजाम दे रहे थे, लेकिन बाकी 15-16 नक्सली घटनास्थल के आस-पास बिखरे हुए थे। जब नक्सली जवानों से हथियार लूटने में कामयाब हो गये तब सभी नक्सली एक साथ हो गये। सबों की उम्र 20 से 25 साल के बीच है। इनमें से कइयों के पास पिस्टल या छोटे हथियार थे। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार इस दस्ते में तीन लड़की भी थी जो सलवार सूट पहनी हुई थी। इनकी उम्र भी 20 से 25 वर्ष की थी। तीनों लड़की सांवली थी। चौका मोड़ में लूट को अंजाम देने के बाद सभी पैदल चले गये। आधा घंटा बाद पहुंचे एसपीड्ढr चांडिल (निसं)। नक्सलियों द्वारा पुलिस से इंसास और एसएलआर लूटे जाने के करीब आधा घंटा के बाद ही सरायकेला पुलिस अधीक्षक लक्ष्मण प्रसाद सिंह घटनास्थल पर पहुंच गये। पुलिस के जवानों से जानकारी लेने के बाद उन्होंने खरसावां, कुचाई तथा तमाड़ पुलिस को इसकी सूचना दी तथा स्वयं आदित्यपुर के थानेदार बीडी सिंह, चांडिल थाना प्रभारी धनंजय सिंह एवं एसडीपीओ झरिया कुजूर के साथ हेंसाकोचा जंगल की ओर कूच कर गये। ऐसी संभावना है कि हथियार लूट कर नक्सली हेंसाकोचा या रांका के रास्ते जंगल में घुस गये हैं। पुलिस ने इन जंगलों के चारों ओर से घेर लिया है। एसटीएफ, सीआरपीएफ एवं जिला पुलिस के जवान भी नक्सलियों की घेराबंदी के लिए निकल गये हैं। ऐसी सूचना है कि पड़ोस के जिले से भी मदद ली जा रही है।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: संक्षिप्त खबर