अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डाँट न फटकार,पसीने-पसीने केन्द्र व्यवस्थापक

डाँट-न फटकार, फिर भी इतनी दहशत कि कक्ष निरीक्षक से लेकर केन्द्र व्यवस्थापक तक हाँफ व काँप रहे थे। कोई सीधे खड़ा नहीं हो पा रहा था तो किसी के मुँह से आवाज नहीं निकल रही थी। राजधानी व इससे सटे हरदोई जिले के बोर्ड परीक्षा केन्द्रों पर सोमवार को माध्यमिक शिक्षा मंत्री रंगनाथ मिश्र ने छापा मारकर नकल माफिया के हौसले तोड़े।ड्ढr दो-दो फुट गहरे तथा धूल भरे रास्तों पर होते हुए विभागीय मंत्री बुधवार को हरदोई में नकल का गढ़ माने जाने वाले विद्यालयों की जाँच के लिए निकले। सण्डीला से लगभग 15 किलोमीटर दूर ठेठ गाँव केड्ढr डॉ. कुरबान अली इंटर कॉलेज खजोहना हरदोई में पहुँचते ही उन्होंने सभी शिक्षकों व कर्मचारियों को उसी जगह खड़े रहने को कहा, जो जहाँ था। उनका दस्ता छात्रों के कमरों की तलाशी लेने में जुट गया। फिर कक्ष निरीक्षकों से शुरू हुआ सवाल-जवाब। कौन सा विषय पढ़ाते हो? परिचय पत्र दिखाआे, किस विद्यालय के शिक्षक हो? यह कहते हुए वह कमरों में घुस गए। आस-पास बैठे छात्रों की कॉपियाँ मिलानी शुरू कर दीं। वह बच्चों से सवाल भी करते जा रहे थे कि किस टीचर ने बोल कर लिखाया। मास्टर जी ने कुछ बताया नहीं? क्यों मास्टर साहब, क्या बताया बच्चों को। शिक्षा मंत्री के सवालों से शिक्षक ही नहीं केन्द्र व्यवस्थापक भी पसीने-पसीने थे। केन्द्र पर एक कक्ष से तीन नकलची पकड़े गए। इसके लिए उन्होंने कक्ष निरीक्षक संतोष यादव व अलीक अम्बर को पुलिस की गाड़ी में बैठा लिया। दो-दो फुट गहरे गड्ढों वाली धूल भरी सड़कों से होते हुए जब वह सैयद अहमद अली इंटर कॉलेज, कुतुबपुर पहुँचे तो वहाँ भी शिक्षक दहशत में आ गए। शिक्षकों को विभागीय मंत्री के इतने पिछड़े इलाके के स्कूलों में आने की उम्मीद नहीं थी। केन्द्र पर तलाशी में तो उन्हें कुछ खास नहीं मिला लेकिन स्कूल की बाहरी दीवार में लगी खिड़कियों से कुछ पर्चियाँ गिरी मिलीं। इसके लिए उन्होंने स्कूल के केन्द्र व्यवस्थापक को हटाने का निर्देश दिया। यहाँ भी उन्होंने छात्रों की कॉपियाँ आपस में मिलाईं लेकिन मॉस कापिंग के कोई साक्ष्य नहीं मिले। कॉपियाँ व पेपर फाड़ने वाले छात्र संग्राम सिंह के खिलाफ कार्रवाई का निर्देश दिया। छात्र ने शिक्षक पर मारने-पीटने का आरोप लगाया। इस पर उन्होंने शिक्षक को फटकारा। सगीर हुसैन नुसरत हुसैन इंटर कॉलेज गौरी खालसा विद्यालय की बदहाल स्थिति पर प्रधानाचार्य को फटकार लगाई तथा संयुक्त शिक्षा निदेशक कृपाशंकर शर्मा को केन्द्र व्यवस्थापक को तत्काल हटाने का आदेश दिया। शाम को उन्होंने राजधानी के इरम इंटर कॉलेज इन्दिरानगर, दयानन्द इंटर कॉलेज, एसआर इंटर कॉलेज कल्याणपुर, इरम इंटर कॉलेज कुर्सी रोड, उदय मान्टेसरी कुर्सी रोड तथा माउण्ट फोर्ड इंटर कॉलेज में छापा मारा। दयानन्द से उन्होंने एक नकलची पकड़ा। पकड़े जाने के डर से छात्र ने नकल की पर्चियाँ मुँह में ठूँसीड्ढr लखनऊ (निसं.)। डॉ. कुरबान अली इण्टर कॉलेज में दस्ते के पहुँचने के बाद एक छात्र ने नकल की पर्ची निगल ली और मुँह बंद कर लिया। पर्ची कूँचते समय उसके होंठ पर नीली इंक लग गई। छात्र की तलाशी ले रहीं सचल दस्ते की सदस्य अर्चना सिंह की नजर छात्र के होंठ पर पड़ी तो उन्होंने उससे मुँह खोलने को कहा तो वह आना-कानी करने लगा। डाँटने पर मुँह खोला तो उसमें से नकल की कई पर्चियाँ निकलीं। पर्चियाँ ज्यादा थी इसलिए वह निगल नहीं सका और पकड़ा गया। एक छात्र ने बनियान में गाइड के पन्नों को मोड़कर इसे अण्डरवियर में छुपा रखा था। इसे प्लाइंग स्क्वायड दस्ते की अर्चना सिंह ने पकड़ा। दो छात्रों को ए.पी. चंदेल ने पकड़ा। सैयद अहमद अली इण्टर कॉलेज में लगभग एक दर्जन छात्रों की जेब में तीन से लेकर 10 हजार रुपए तक मिले। यहाँ एक छात्र मोबाइल लेकर परीक्षा देते पकड़ा गया। बोर्ड की उत्तर पुस्तिकाआें का मूल्यांकन 15 अप्रैल सेड्ढr लखनऊ (निसं.)। यृूपी बोर्ड परीक्षा की उत्तर पुस्तिकाआें का मूल्यांकन 15 अप्रैल से शुरू होगा। माध्यमिक शिक्षा मंत्री रंगनाथ मिश्रा ने बताया कि इस वर्ष उत्तर पुस्तिकाआें के मूल्यांकन के लिए कुल 1ेन्द्र बनाए जाएँगे। मूल्याँकन के लिए विशेष तैयारियाँ की जा रही हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: डाँट न फटकार,पसीने-पसीने केन्द्र व्यवस्थापक