अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अभी कहाँ पस्त हुए नकलचियों के हौसले

मंत्री जी, अभी पस्त नहीं हुए हैं नकल माफिया के हौसले। कार्रवाई ही बता रही है कि यूपी बोर्ड की परीक्षाओं में क्या हो रहा है। माफिया नकल कराने के नए-नए तरीके ईजाद कर रहे हैं। अपना काम आसान बनाने के लिए उन्होंने फर्जी कक्ष निरीक्षक तक तैनात कर रखे हैं। सीतापुर में बेसिक शिक्षा अधिकारी ने ऐसे ही 17 फर्जी कक्ष निरीक्षक पकड़े हैं। आजमगढ़, जौनपुर, इलाहाबाद, वाराणसी, मिर्जापुर और गाजीपुर के अनेक केन्द्रों पर नकल अब भी चल रही है। नकल पर काबू पाने की कोशिश में बुधवार को भी प्रदेश के कई परीक्षा केन्द्रों की परीक्षा रद की गई। कई केन्द्र व्यवस्थापकों व शिक्षकों को जेल भेजा गया। सात केन्द्रों पर दोबारा परीक्षा के आदेश हुए हैं। सख्ती से बौखलाए नकल माफिया ने गाजीपुर में डीआईओएस के दस्ते पर पथराव करवा दिया।ड्ढr माध्यमिक शिक्षा मंत्री रंगनाथ मिश्रा ने बुधवार को यहाँ संवाददाता सम्मेलन में दावा किया कि प्रदेश में शिक्षा व नकल माफिया के हौसले पस्त हो गए हैं। उन्होंने कहा कि सख्ती के कारण 4.64 लाख परीक्षार्थी बोर्ड परीक्षा छोड़ चुके हैं। उन्होंने बताया कि बुधवार को बलिया में दो केन्द्रों की परीक्षा निरस्त की गई। नकल कराने का प्रयास करने वाले रामजन्म उच्चतर माध्यमिक विद्यालय खीरो के प्रबंधक के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराकर उन्हें जेल भेजा गया। कॉलेज के प्रधानाचार्य के खिलाफ भी एफआईआर दर्ज कराई गई है। वहाँ 100 छात्रों की परीक्षा निरस्त कर दी गई। राजनरायण इंटर कॉलेज भीखमपुर के दो कक्ष निरीक्षकों को भी जेल भेजा गया।ड्ढr बलिया के रेवती क्षेत्र में हल किए गए प्रश्नपत्रों की फोटो कॉपी 20 से 50 रुपये में बिक रही थी। एसडीएम ने फोटो स्टेट की दुकान पर छापा मारकर सुबह की पाली में गणित के पर्चे की हल प्रतियाँ बरामद कीं।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अभी कहाँ पस्त हुए नकलचियों के हौसले