अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खदेड़े गए लॉ परीक्षार्थी

टीपीएस कॉलेज परीक्षा केंद्र पर विधि स्नातक द्वितीय व तृतीय खंड की परीक्षा के दौरान बुधवार को फिर जबरदस्त हंगामा हुआ। इसके बाद परीक्षा केन्द्र पर अफरा-तफरी मच गयी। पुलिस ने परीक्षार्थियों को खदेड़ कर कैंपस व बाहर के रास्ते को खाली करा दिये। इस कारण अधिकांश परीक्षार्थी परीक्षा देने से वंचित रह गए। प्राप्त जानकारी के अनुसार सुबह से ही यहां पर भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गयी थी। परीक्षार्थियों द्वारा केंद्र न बदले जाने के विरोध में आत्मदाह की धमकी के बाद पुलिस कुछ अधिक ही चौकस थी। इसका खामियाजा परीक्षार्थियों को भुगतना पड़ा। परीक्षा शुरू होने के लगभग घंटा भर पहले जब छात्र परीक्षा केंद्र पर एकत्र होने लगे, तो अचानक ही पुलिस ने उन पर लाठी चार्ज कर दिया।ड्ढr ड्ढr लगभग दो बजे कुछ छात्र-छात्राआें को केंद्र के भीतर प्रवेश कराकर परीक्षा दिलायी गयी। पर खदेड़े गए परीक्षार्थियों को परीक्षा की सूचना नहीं दी गयी। परीक्षा के बारे में पता करने गयी छात्राआें ने बताया कि हमलोगों को भी खदेड़ा गया। छात्रों का कहना था कि परीक्षा से पूर्व ही प्रश्न पत्र लीक कर दिया गया था और कुछ विशेष छात्र-छात्राआें को इसे उपलब्ध करा दिया गया। इसके बारे में भी जब पुलिसकर्मियों को बताने का प्रयास किया तो उन्होंने हमारी एक नहीं सुनी।ड्ढr ड्ढr वहीं टीपीएस कॉलेज के प्राचार्य का कहना था कि जिन छात्रों ने परीक्षा देने का मन बनाया, उन्हें परीक्षा में भाग लेने दिया गया। परीक्षा केंद्र पर तीन बजे के बाद भी छात्रों को पकड़ कर परीक्षा में बैठाते देख गया। केंद्र नहीं बदले जाने व जबरन परीक्षा लेने के विरोध में परीक्षार्थियों ने डाकबंगला चौराहे पर प्रदर्शन किया और बिना वजह मारपीट किए जाने व परीक्षा केंद्र से खदेड़े जाने के विरोध में कंकड़बाग थाना प्रभारी के निलंबन की मांग की। साथ ही उन्होंने कहा कि वे नकल करने की छूट नहीं, बस परीक्षा केंद्र बदलने की मांग कर रहे हैं। केंद्र पर प्रथम पाली की परीक्षा के दौरान एक छात्र को कदाचार करते पकड़ा गया और परीक्षा से निष्कासित कर दिया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: खदेड़े गए लॉ परीक्षार्थी