DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारी बैट भारत की एक समस्या -चैपल

टीम इंडिया के पूर्व कोच ग्रेग चैपल ने कहा है कि क्रिकेट में भारी बैट के इस्तेमाल से खासतौर पर भारत में इस खेल के विकास में बाधा आती है। चैपल ने कहा कि भारी बैट से खिलाड़ियों के शरीर पर बुरा असर पड़ता है क्योंकि इससे वे अपने शरीर को मनमुताबिक घुमा नहीं सकते और इससे बल्ले पर पकड़ भी प्रभावित होती है। चैपल ने भारी बैट को भारत में बल्लेबाजी तकनीक सीखने में परेशानी वाला बताते हुए कहा कि अगर आप सही चीजें जल्दी नहीं सीखते हैं तो भारी बैट की जगह हल्के बैट से खेलना काफी कठिन हो जाता है। चैपल इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की जयपुर टीम राजस्थान रायल्स के मालिक इमर्जिंग मीडिया द्वारा शुरू टैलेंट हंट के मौके पर यहां संवाददाताआें से बात कर रहे थे। इस अभियान का मकसद भारत के नए 20-20 क्रिकेटर ढूंढ़ना है। उन्होंने कहा कि इस शिविर में भाग ले रहे कुल 500 लड़कों में से आठ को चुना गया है। चैपल ने कहा कि भारत में यादातर प्रतिभा ग्रामीण क्षेत्रों में है। उन्हांेने कहा कि अगर हम अब भी महानगरों पर ही ध्यान केन्द्रित करते रहे तो हम ग्रामीण प्रतिभाआें के इस्तेमाल से महरूम रह जाएंगे। हमें ग्रामीण क्षेत्र पर ध्यान केन्द्रित करने की जरूरत है। चैपल ने कहा कि इस समय क्रिकेट भारी बदलाव के दौर से गुजर रहा है। भविष्य का क्रिकेट पहले के क्रिकेट से अलग होगा। भविष्य के क्रिकेटर एथलीट होंगे। उन्होंने कहा कि भविष्य का क्रिकेट यहां की युवा पीढ़ी से क्षेत्ररक्षण और विकटों के बीच दौड़ को और सुधारने की मांग करेगा जो पहले नहीं रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: भारी बैट भारत की एक समस्या -चैपल