अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सज-धज कर तैयार ‘आदिवासी गांव’सज-धज कर तैयार ‘आदिवासी गांव’रांची (सं)।

कला संस्कृति एवं युवा खेलकूद विभाग के तत्वावधान में आयोजित तीन दिवसीय जनजातीय एवं क्षेत्रीय महोत्सव 2008 के उद्घाटन के लिए निर्मित मोरहाबादी मैदान का आदिवासी गांव सज-धज कर तैयार है। 14 मार्च को संध्या साढ़े पांच बजे झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री शिबू सोरेन भव्य महोत्सव का विधिवत उद्घाटन करेंगे। विभागीय सचिव रविशंकर वर्मा ने गुरुवार को महोत्सव परिसर कार्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में बताया कि महोत्सव में राज्य के कोने-कोने से चुने हुए सांस्कृतिक दल लगभग 4जनजातीय एवं क्षेत्रीय नृत्य शैली का प्रदर्शन तीन दिनों तक करेंगे। राज्य के 24 जिलों और 212 प्रखंडों सहित पूर्वी क्षेत्रीय सांस्कृतिक केंद्र के माध्यम से उड़ीसा, राजस्थान, मेघालय और पश्चिम बंगाल के कलाकारों को भी आमंत्रित किया गया है। महोत्सव में लगभग सात हजार कलाकार नृत्य मंचों पर अपने जौहर दिखायेंगे। परिसर में कुल 17 स्टॉल लगाये गये हैं। उद्घाटन समारोह की अध्यक्षता विभागीय मंत्री बंधु तिर्की करेंगे। महोत्सव के दूसरे दिन 15 मार्च को कार्यक्रम के मुख्य अतिथि विधानसभा अध्यक्ष आलमगीर आलम होंगे। महोत्सव के समापन समारोह में मुख्यमंत्री मधु कोड़ा मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित होंगे। संवाददाता सम्मेलन में उपनिदेशक संस्कृति हरेंद्र सिन्हा एवं कुमार आनंद भी उपस्थित थे। पूर्वाह्न् 11 बजे से सबके लिए खुला महोत्सव द्वार रांची। 14 से 16 मार्च तक आयोजित जनजातीय एवं क्षेत्रीय महोत्सव का द्वारा आम दर्शकों के लिए प्रतिदिन 11 बजे से रात नौ बजे तक नि:शुल्क खुला रहेगा। संध्या साढ़े पांच बजे उद्घाटन समारोह में भी आम दर्शक भाग ले सकेंगे। 11 से एक बजे और दो बजे से चार बजे तक विभिन्न अखड़ा मंचों पर एवं शाम पांच बजे से मुख्य मंच पर सांस्कृतिक कार्यक्रम होंगे।ड्ढr सेमिनार में होगी सांस्कृतिक दुष्प्रभाव पर चर्चाड्ढr रांची। 15 और 16 मार्च को सेमिनार हॉल में 11 बजे से एक बजे तक झारखंड की जनजातीय संस्कृति, कला, साहित्य एवं जीवन पर आधारित सेमिनार में विभिन्न विद्वान भाग लेंगे। सेमिनार में झारखंड में सांस्कृतिक विकृति के दुष्प्रभाव पर विशेष चर्चा होगी।ड्ढr 70 श्रेष्ठ सांस्कृतिक टीमों का चयन होगाड्ढr रांची। झारखंड में आयोजित होनेवाली राष्ट्रीय खेल प्रतियोगिता के उद्घाटन एवं समापन कार्यक्रम और खिलाड़ियों के मनोरंजन के लिए कुल 70 श्रेष्ठ सांस्कृतिक टीमों का चयन भी इसी महोत्सव में शामिल कलाकारों के बीच से किया जायेगा। इसके लिए 15 सदस्यीय विशेषज्ञ समिति का गठन किया गया है। यह समिति श्रेष्ठ टीमों पर नजर रखेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सज-धज कर तैयार ‘आदिवासी गांव’सज-धज कर तैयार ‘आदिवासी गांव’रांची (सं)।