अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अभी भी मालदार हैं अरब में रहने वाले

आप माने या ना मानें लेकिन यह सच है कि वैश्विक मंदी के इस दौर में भी दुनिया के सबसे दमदार अरबपति कहीं हैं तो वह अरब देशों में हैं। यह कोई तीर या तुक्का नहीं है बल्कि फोर्ब्स अरब पत्रिका द्वारा वर्ष 200े लिए तैयार क्षेत्रीय अरबपतियों की सूची की हकीकत है। जिसमें सऊदी अरब के शहजादा अलवलीद बिन तलाल अन सौद 13 अरब 30 करोड़ डालर की संपत्ति के साथ शीर्ष पर होने के साथ दुनिया के अरबपतियांे में 22 वां स्थान रखते हैं। विश्व स्तर पर आई मंदी की मार कुछ ऐसी पड़ी है कि भारत, रूस और तुर्की के अरबपतियांे की संपत्ति अरब देशों के अरबपतियों की संपत्ति की तुलना में तेजी से घटी है। अरब देशों के अमीरों की संपत्ति जहां मंदी आने से 35 फीसदी घटी वहीं भारत, रूस और जापान के धनाडय़ वर्ग की संपत्ति में 50 फीसदी की कमी आई। अरब देशों के अरबपतियों की सूची में 6 अरबपतियों की कुल 60 अरब 50 करोड़ डालर की संपत्ति के साथ शीर्ष पर मौजूद सऊदी अरब के बाद 21 अरब 40 करोड़ डालर की संपत्ति के साथ संयुक्त अरबअमीरात दूसरे स्थान पर है। अरब देशों की इस सूची में 4 अरब 0 करोड़ डालर की संपत्ति के मालिक शेख मंसूर बिन जायद अल नहयान नया चेहरा हैं। साल 2008 के दौरान वह विश्व आर्थिक परिदृश्य में एक बड़े निवेशक बन कर उभरे हैं। फोर्ब्स अरबिया पत्रिका के संपादक खुलोद अल आेमियान के मुताबिक साल 200े विश्व के सर्वाधिक धनी व्यक्ितयांे में अरब देशों के अमीर लोगों की कुल संपत्ति 115 अरब 80 करोड़ डालर आंकी गई जबकि पिछले वर्ष यह 177 अरब 60 करोड़ डालर थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अभी भी मालदार हैं अरब में रहने वाले