DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अलीपुर : बच्चे की हत्या कर भूसे में जला डाला

दिल्ली के अलीपुर इलाके में गुरुवार की रात दस साल के एक बच्चे की गला घोंटकर हत्या कर दी और शव को भूसे में डालकर जला दिया। इस बीच किसी ने अफवाह फैला दी कि पड़ोस के गांव में मेरठ से आई बरात में शामिल लोगों ने बच्चे को मारा है। बारात मेरठ निवासी हरपाल सिंह के पुत्र प्रदीप चौहान की थी। अफवाह से बच्चे के परिजन भड़क गए। उन्होंने बारातियों की गाड़ियां तोड़ दी और भारी हंगामा किया। पुलिस ने किसी तरह स्थिति को काबू में किया। शुरुआती जांच के बाद पुलिस ने हत्या के पीछे कुकर्म, संपत्ति विवाद या फिर रंजिश की आशंका जताई है। पूछताछ के बाद बारात को मेरठ लौटने की इजाजत दे दी गई लेकिन जांच के दायरे में उन्हें भी रखा गया है। पुलिस ने बच्चे के घर में मजदूरी करने वाले उमेश सहित पांच लोगों को हिरासत में लिया है। मृतक बालक संजीव अलीपुर इलाके में पाना बख्तावरपुर गांव मंे रहने वाले बिजेन्द्र (35) का है। संजीव ऋषिकुल स्कूल में दूसरी कक्षा में पढ़ता था और मानसिक रूप से थोड़ा परेशान था। करीब सात बजे वह साइकिल लेकर घर से चला तो लौटा नहीं। परिजन उसे ढूंढ़ते हुए विवाह स्थल तक पहुंच गए। इस जगह के सामने करीब छह-सात सौ मीटर दूर एक खेत में भूसे से धुंआ उठ रहा था। ढूंढख़ोज के बाद उसमें से संजीव का जला हुआ शव मिला। खबर लगते ही बख्तावरपुर से सैकड़ों लोग वहां पहुंच गये। इसी बीच किसी ने अफवाह उड़ा दी कि संजीव की साइकिल एक बाराती की क्वालिस से टकरा गई थी। इस कारण नशे में धुत्त बरातियों ने उसकी हत्या की है। यह सुनते ही लोग भड़क गए और उन्होंने बारातियों की गाड़ियों पर हमला बोल दिया। पुलिस ने बारातियों से भी पूछताछ की लेकिन बाद में उन्हें छोड़ दिया। दूल्हे के पिता हरपाल सिंह के मुताबिक बारातियों का इस घटना से कोई लेना-देना नहीं है। बेकसूर निकलने पर पुलिस ने पूरी बारात को मेरठ जाने दिया। फिलहाल दोनों गांव में तनावपूर्ण स्थिति देखते ही भारी मात्रा में पुलिसबल तैनात किया गया है। शुक्रवार को पुलिस ने बच्चे के शव का पोस्टमार्टम करा उसे परिजनों को दे दिया। पुलिस की मौजूदगी में बच्चे का अंतिम संस्कार किया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अलीपुर : बच्चे की हत्या कर भूसे में जला डाला