DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जगमगा उठा विधवा का मकान

शादी ब्याह में ढ़ोल बजाकर अपने बीमार बेटे के पालन-पोषण में जुटी विधवा मोहिनी को अब पक्का आशियाना मिल गया है। राजस्थान सरकार की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं ने मोहिनी और उसके बेटे दयाल के जीवन की दिशा ही बदल दी। बेटे का मुफ्त इलाज होने के साथ सस्ता राशन मिलने से वह सम्मानपूर्वक जीवन बिता रही है। अजमेर जिले की बेगलियावास ग्राम पंचायत के गांव खेड़ा की मोहिनी ढ़ोली पैसे-पैसे के लिए मोहताज थी। सात साल पहले पति के निधन के बाद वह शादी-ब्याह के मौके पर ढ़ोल बजाकर मिलने वाले नेग की रकम से कच्चे मकान में बीमार बेटे के साथ जीवन गुजार रही थी। इंदिरा आवास योजना के लिए चयनित मोहिनी को मकान बनाने के लिए 25 हजार रुपए का अनुदान मिला। मोहिनी की मेहनत रंग लाई और उसका मकान बन गया। राजीव गांधी विद्युतीकरण योजना में इस बीपीएल परिवार को नि:शुल्क विद्युत कनेक्शन मिला। इस विद्युत लाइन से खेड़ा के वाशिंदो को भी कनेक्शन सुलभ हो गए। इस तरह मोहिनी के जीवन से अंधियारा दूर हो गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: जगमगा उठा विधवा का मकान