अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारत-चीन मुक्त व्यापार दोनों के हित में होगा

भारत और चीन के एक संयुक्त कार्यबल की रिपोर्ट के अनुसार दोनों के बीच मुक्त व्यापार व्यवस्था से दोनों को ही आर्थिक वृद्धि, जन कल्याण, अधिक व्यापार और संसाधनों के बेहतर उपयोग के रूप में लाभ होगा। इस कार्यबल की पिछली बैठक अक्टूबर में हुई थी। एक सरकारी विज्ञप्ति के अनुसार भारत-चीन मुक्त व्यापार समझौता पारस्परिक रूप से लाभप्रद होगा। इससे आर्थिक वृद्धि को बढ़ावा मिलेगा। इससे अधिक कल्याणकारी लाभ प्राप्त होंगे। संसाधनों के सदुपयोग के माध्यम से आपसी व्यापार में वृद्धि होगी। दोनों देशों के बीच उदार व्यापार व्यवस्था से भारत को एक अरब डॉलर और चीन को डेढ़ अरब डॉलर के कल्याणकारी लाभ होंगे। रिपोर्ट में कहा गया है कि सेवा क्षेत्र में व्यापार में दोनों देशों को एक दूसरे का पूरक होने का बड़ा लाभ मिल सकता है। कपड़ा और रसायन उद्योग में दोनों देशों का ढांचा एक जैसा है। इस तरह के उद्योगों की इकाइयां आपस में व्यापार बढ़ा सकती हैं। संयुक्त कार्यबल का गठन एक संयुक्त अध्ययन दल की सिफारिश पर किया गया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: भारत-चीन मुक्त व्यापार दोनों के हित में होगा