अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राजधानी में रही होली मिलन समारोहों की धूम

होली आने में अभी कुछ दिन बाकी है लेकिन पटनावासियों पर इसका सुरूर अभी से देखने को मिल रहा है। चारों तरफ होली की बहार छाई हुई है। जवानों की होली को देखते हुए भला बुजुर्ग इससे पीछे कैसे रहें। कुछ ऐसा ही नजारा पटना हाईस्कूल, गर्दनीबाग के पूर्ववर्ती छात्रों के होली मिलन समारोह में देखने को मिला। इस मौके पर बिहार सरकार के सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग के कलाकारों द्वारा रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किया गया।ड्ढr ड्ढr ‘मुआई देल हो आखियों से आखियां मिलाई के..., लाली चुनरी में गोटवा लहर मारे’ जैसे ही कल्पना कुमारी ने गाना शुरू किया तो बुजुर्ग भी अपनी मस्ती में सराबोर हो गए। पूर्ववर्ती छात्र एक-दूसरे से गले मिलकर अबीर-गुलाल से सभी के चेहरों को लाल, पीला, गुलाबी कर रहे थे। जोगी जी धीरे-धीरे नदी के तीरे-तीरे.. घूंघट में चांद सा मुखड़ा गीत पर हाजीपुर से आयी श्वेता मिश्रा, स्वाती, तान्या, अर्चना, राधिका, आरती पुष्पा ने ग्रुप डांस प्रस़्तुत कर होली की मस्ती का रसपान करवाया। होली मिलन समारोह में राजू, संतोष, सुबोध, गोविन्द, राकेश ने भी अपनी प्रस्तुति से सभी को प्रभावित किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता पूर्व विधायक अब्दुल बारी सिद्दीकी ने की। इस मौके पर स्कूल के प्राचार्य राजेश्वार प्रसाद यादव, डा. बसंत सिंह, असरफी पासवान सहित सैंकड़ों लोग उपस्थित थे। ड्ढr नेत्र रोग विशेषज्ञों ने प्रेम-भाईचारे के बीच मनाया होली मिलनड्ढr पटना (हि.प्र.)। बिहार ऑप्थैमोलॉजिकल सोसायटी द्वारा समाज में प्रेम और भाईचारा को बढ़ावा देने के लिए रविवार को होली मिलन समारोह का आयोजन किया गया। समारोह में शामिल सभी चिकित्सकों ने संकल्प लिया कि सामाजिक सद्भाव बढ़ाने के लिए अधिक संख्या में समाजोपयोगी कार्य किये जाएंगे। होली मिलन समारोह में राजधानी के प्रसिद्ध नेत्र रोग विशेषज्ञों में डा.रियाज हसन, डा.रंजन कुमार अखौरी, डा.सुभाष प्रसाद, डा.सुधीर कुमार, डा.सुनील कुमार सिंह, डा.अनीता,, डा.अरविन्द जायसवाल, डा.वी.एन.प्रसाद सहित दर्जनों चिकित्सक शामिल थे। सोसायटी के सामुदायिक कार्यक्रम के संयोजक डा.सुनील कुमार सिंह ने बताया कि होली के हुड़दंग में आंखों में चोट लगने और रंग-गुलाल से बचाने की जरूरत है। रंग-गुलाल के आंख में जाने से रसायनिक खतरा होता है। इससे एलर्जी, संक्रमण और कंजंक्िटवाइटिस का जख्म हो सकता है। जब आंखो में रंग-गुलाल पड़ जाए तो स्वच्छ पानी से अच्छी तरह से साफ कर देना चाहिए। होली गीतों पर जमकर झूमे लोगड्ढr पटना (सं.सू.)। होली मिलन समारोह का आयोजन रविवार को राजधानी के विभिन्न संगठनों द्वारा आयोजित किया गया। इसी तरह की मस्ती भरे माहौल से मिथिला की सांस्कृति एवं कला का परिचय रविवार को विद्यापति भवन में जय चित्रांश मैथिली समिति द्वारा आयोजित होली मिलन समारोह में देखने को मिली। एतऽ के झुमका नई पहिरब.., रूण झुन बाजे कांगना.., रंगीलो मारो ढोलना.. एक से बढ़कर एक गीत पर कलाकारों ने नृत्य प्रस्तुत किया। कार्यक्रम की शुरुआत स्वागत गान से हुई। इसके बाद जय-जय भैरब मैथिली गीत पेश किया गया। हनागरा-नागरा, दिल में मेरे है दर्दे डिस्को, ये गोरी जरा नाच के दिखा गीत पर नन्हें बच्चे हरनित कौर, आस्था गुप्ता, रश्मि कौर, सोनू, सिमरन एवं श्रेया ने ग्रुप डांस किया। इस मौके पर प्रदीप बिहारी को सभा के अध्यक्ष राम नरेश दास ने सम्मानित किया। कार्यक्रम का उद्घाटन योगेन्द्र नारायण मालिक ने किया। उधर राजपूत महासभा के तत्वावधान में होली मिलन समारोह केशरी नगर स्थित विजय राघव मंदिर के परिसर में आयोजित किया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन मनोरंजन प्रसाद सिंह ने किया। समारोह में लोगों ने पांरपरिक फगुआ गीतों का जमकर लुत्फ उठाया। इस मौके पर प्रो. सत्येन्द्र नारायण सिंह, हरिनारायण सिंह, रंजीत सिंह परमार, संजय कुमार सिंह, नागेन्द्र गिरी, रामाकांत तिवारी, राजेश्वर प्रसाद आदि उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: राजधानी में रही होली मिलन समारोहों की धूम