अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हिंसा की लीपापोती में जुटी चीन सरकार

तिब्बत में सरकार के प्रमुख और क्षेत्रीय गर्वनर क्यूगांबा पुनकोग ने इस बात से इंकार किया है कि चीन के सुरक्षाबलों ने ल्हासा में प्रदर्शनकारियों पर घातक हथियारों का इस्तेमाल किया। यहां आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन में उन्होंने कहा कि वह पूरी जिम्मेदारी से यह बात कहना चाहते हैं कि सुरक्षाबलों ने तिब्बती प्रदर्शनकरियों पर किसी खतरनाक हथियार का प्रयोग नहीें किया। पुनकोग ने कहा कि क्षेत्र में पिछले सप्ताह उभरे दंगों को दबाने के लिए सुरक्षा बलों ने कड़ी कार्रवाई की। इसमें उन्हें बंदूक भी चलानी पड़ी जिससे 13 निर्दोष लोंगो की मौत हो गई और साथ ही दंगों की वजह से दर्जनों सुरक्षाकर्मी घायल हो गए। पुनकोग ने बताया कि क्षेत्र में शांति कायम हो रही है। उन्होंने तिब्बती प्रदर्शनकारियों को चेतावनी देते हुए कहा कि जो लोग गंभीर अपराधों में संलग्न होंगें उनके खिलाफ कड़े कदम उठाए जाएंगे। सरकार के कानून के मुताबिक काम करने का दावा करते हुए पुनकोग ने कहा कि चीन कानून के हिसाब से चलने वाला देश है और कोई भी देश इस तरह की हिंसा को बर्दाश्त नहीं कर सकता।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: हिंसा की लीपापोती में जुटी चीन सरकार