अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एक दिन ठहरने की व्यवस्था करके आएँ

यूपी में बीएड की संयुक्त प्रवेश परीक्षा में चुने गए अभ्यर्थियों को काउंसिलिंग के लिए दो दिन का समय देना होगा। आठ से 22 अप्रैल तक चलने वाली ऑनलाइन काउंसिलिंग में उन्हें पहले दिन बीएड कॉलेजों के विकल्प चुनने होंगे और दूसरे दिन उन्हें एलॉटमेण्ट लेटर दिया जाएगा। ऐसे में प्रदेश के 10 जिलों में 13 काउंसिलिंग सेण्टर में आसपास के जिलों से आने वाले अभ्यर्थियों को परेशानी का सामना करना पड़ेगा। उन्हें एक दिन ठहरने की व्यवस्था करनी होगी। ऐसे में काउंसिलिंग सेण्टर के आसपास अभ्यर्थियों की भारी भीड़ जमा रहेगी।ड्ढr आगरा विवि की वेबसाइट पर छात्रों को काउंसिलिंग के लिए जो दिशा-निर्देश दिए गए हैं, उनमें साफ लिखा है कि अभ्यर्थी काउंसिलिंग के लिए कम से कम दो दिन का समय लेकर आएँ। इससे सबसे ज्यादा परेशानी दूसरे जिलों से आने वाली महिला अभ्यर्थियों को होगी। उन्हें अपने अभिभावकों के साथ ठहरने का इंतजाम करना होगा।ड्ढr हरदोई की नीलम गुप्ता ने राजधानी में बीएड की संयुक्त प्रवेश परीक्षा दी थी। अब उनकी काउंसिलिंग भी यहीं होगी। उन्हें इससे कोई परेशानी नहीं है लेकिन काउंसिलिंग पूरी होने के बाद दूसरे दिन कॉलेज एलॉटमेण्ट लेटर के लिए रुकना उन्हें खल रहा है। उनका कहना है कि राजधानी मे ही बीएड के करीब 70 हाार के लगभग अभ्यर्थी काउंसिलिंग के लिए आएँगे। ऐसे में ठहरने के लिए जगह मिल पाना मुश्किल होगा। काउंसिलिंग के समय ही कॉलेज एलॉटमेण्ट लेटर देने की व्यवस्था करनी चाहिए थी। उधर, तीन अप्रैल से शुरू हुई ऑफलाइन काउंसिलिंग वेबसाइट न खुलने और कम्प्यूटर नेटवर्किंग का सर्वर डाउन होने की वजह से यह व्यवस्था चौपट हो गई। अभ्यर्थियों को प्रशिक्षण देने के लिए शुरू हुई यह काउंसिलिंग बेईमानी साबित हुई। सोमवार को खत्म होने वाली इस काउंसिलिंग का अभ्यर्थी फायदा नहीं उठा सके।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: एक दिन ठहरने की व्यवस्था करके आएँ