DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इंजमाम को याद आए वूल्मर

बॉब वूल्मर की मौत के बारह महीनों बाद पूर्व पाकिस्तानी कप्तान इंजमाम उल हक ने माना कि वह प्रेरणादायी क्रिकेट कोच को कभी भूल नहीं पाएंगे। इंजमाम ने इंग्लैंड के पूर्व बल्लेबाज की पहली बरसी पर कहा, ‘पाकिस्तान का क्रिकेट बॉब वू्ल्मर के योगदान के लिए हमेशा उनका ऋणी रहेगा। 2007 विश्व कप में वूल्मर की मौत से शोक की लहर दौड़ गयी थी। इंजमाम ने कहा, ‘मैं विश्व कप की त्रासदियों को भूल जाना चाहता हूं। लेकिन मैं बॉब को नहीं भूल सकता। वह न केवल एक बेहतरीन कोच थे। बल्कि एक बेहद अच्छे इंसान भी थे। दक्षिण अफ्रीका के बीच कोच रह चुके 58 वर्षीय वूल्मर 18 मार्च 2007 को जमैका में होटल के कमरे में मृत पाए गए थे। उनकी मौत से एक दिन पहले ही पाकिस्तानी टीम आयरलैंड से हार कर सनसनीखेज ढंग से विश्व कप से बाहर हो गया था। वू्ल्मर की मौत को शुरुर्अात में हत्या करार दिया गया। कुछ लोगों का मानना था कि वूल्मर की मौत के पीछे सट्टेबाजों का हाथ है। जमैका के इतिहास की यह सबसे बड़ी घटना थी। महीनों की अटकलों और जांच पड़ताल के बाद आखिरकार गत अक्टूबर में यह निष्कर्ष निकला कि वूल्मर की मौत सामान्य तरीके से हुई थी। इस घटना से इंजमाम इस कदर टूट गए कि उन्होंने पाकिस्तान के अंतिम मैच के तुरंत बाद भरी आंखों से एकदिवसीय क्रिकेट को अलविदा कहा दिया। पिछले साल अक्टूबर में टेस्ट क्रिकेट से भी संन्यास लेने वाले इंजमाम ने कहा कि वह सभी की मदद के लिए तत्पर रहते थे और सब तरह से सहयोग करते थे। वह हमेशा टीम के बारे में सोचते थे और हममें लगातार सुधार देखना चाहते थे।’ उन्होंने कहा, ‘ऑयरलैंड के हाथों हार के बाद हम सब निराश थे लेकिन बॉब सबको सांत्वना देने की कोशिश कर रहे थे। वह हमको समझाने का प्रयास करते रहे कि यह महज एक बुरा दिन था। चीजें टीम में सुधार लाएंगी।’ पूर्व कप्तान ने कहा, ‘उन्होंने मुझसे पूछा था कि मेरी योजना क्या थी। मैंने उनसे कहा कि मेरा दिमाग काम नहीं कर रहा था और हम इस बारे में बाद में बात करेंगे। लेकिन वह मौका कभी नहीं आया। हमें उनकी मौत की खबर स्तब्धकारी खबर सुनने को मिली।’ वूल्मर ने हार के बाद कहा था, ‘मैं अंदर तक आहत हूं। मुझे नहीं मालूम कि यह किस तरह मुझे प्रभावित करेगी।’ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: इंजमाम को याद आए वूल्मर