अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कांव कांव

वस्थ रहना है, तो मोहल्ला सुधारियेड्ढr -क्या करें कमबख्त वही तो नहीं सुधरता है- बसंत गोयल, धनबादड्ढr -यही चक्कर में तो पूरे मुहल्ले वाले मेरे पीछे पड़े हैं- बिल्लो, धनबादड्ढr -लगता है डॉक्टरों के मक्खी मारने का वक्त आनेवाला है- 0578331बिकाऊ विधायक पर विपक्ष का बवालड्ढr -अंटी में माल नहीं है, तो फिर बवाल काहे का- अहसान अहमद, गिरिडीहड्ढr -भांग खाने के बाद आदमी सच बोलता ही है- मनोज सेठ, पारसनाथड्ढr -भाव बढ़ा दीजिये इ लोग भी बिक जायेंगे- दानिश राजा, जैंतगढड़्ढr द्य आत्ममंथन तो करना ही होगा : कोड़ाड्ढr -तोल-मोल तो कर लीजिये, आत्ममंथन तो बाथरूमो में हो जायेगा- झुमरीड्ढr -तीनों थैलीशहवन से थैली थाम लिये हैं क्या- विशाल सिंह, डालटनगंजड्ढr द्य इस पर सदन में चर्चा नहीं हो सकती : स्टीफनड्ढr -खाये-पीये ला आपहू को मिल गया का- अमर, कैंबोड्ढr -तो क्या फिरायालाल चौक पर कीजियेगा- पीके मित्तलड्ढr द्य सीसीएल में राजभाषा कार्यालय शुरूड्ढr -लगता है हिंदी को अंतरराष्ट्रीय भाषा बनाइये के छोड़ियेगा- सुमीत चौबेड्ढr द्य चिंता नहीं यूपीए कैंडिडेट जीतेगा : मधु कोड़ाड्ढr -नाथवाणी होली का खर्चा नहीं पहुंचाये हैं का कोड़ा जी- आशीष अग्रवालड्ढr द्य कपड़ा क्षेत्र की उम्मीदें अब पीएम पर टिकींड्ढr -क्यों एक निरीह पीएम को परेशान करते हैं- ज्योति कुमारड्ढr द्य मामला चिंतनीय, चिंतन करना होगा : स्पीकरड्ढr -तो टिकटवा हरिद्वार का कटवा दूं या गंगा सागर का- मिंटू, धनबादड्ढr द्य गरीबों को मिलेगा मुफ्त स्वास्थ्य बीमा का लाभड्ढr -मरने के पहले कि मरने के बाद- यूपीए बताये कौन है उसका उम्मीदवार : किशोरड्ढr -प्यासी आत्माआें की जो प्यास बुझा दे वही है- हिम्मत है, तो स्टैंड क्िलयर करें सीएम : नामधारीड्ढr -उनको तो खुदे स्टैंड का पता नहीं है, आपको कैसे क्िलयर करेंगे- संगीताड्ढr द्य छाने लगा रंगों का खुमारड्ढr -और इस खुमार में मिल भी जाआे मेरे यार- सुभाष डे, बासुकीनाथड्ढr द्य धनबल का जोर, चुनाव स्थगित हो : गिरिनाथड्ढr -गुरुजी, इनके यहां ब्रिफकेस भेजना भूल गये क्या- गोपालचंद मित्तलड्ढr द्य थैलीशाह वापस जाआे, बाजार मत बनाआे : जलेश्वरड्ढr -हमलोग बोड़ा भर कर लेते हैं, थैली पर मत फुसलाआे- एसके पांडेयड्ढr द्य मेरे हस्ताक्षर का गलत उपयोग किया आरके आनंद ने : सुफल मरांडीड्ढr -परमाणु डील समझ कर हस्ताक्षर किये थे क्या- शिव, चासड्ढr द्य राज्यसभा चुनाव मंडी है क्या : मुंडाड्ढr -तबले और घुंघरू की आवाज आपको सुनाई नहीं दे रही है- बसंती, बोकारोड्ढr द्य अमेरिकी सीख रहे कड़की में जीनाड्ढr -भारत आ जायें, फाकाकशी में जीना भी सीखा देंगे- वीरू, बोकारो

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कांव कांव