DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आठ की बैठक में समर्थन पर मुसलिम संगठन लेंगे फैसला

धरी रह गयी मुसलिम संगठनों की मांग। किसी भी धर्मनिरपेक्ष दल ने लोस चुनाव में मुसलिमों को आबादी के हिसाब से टिकट देने की मांग पर ध्यान नहीं दिया। इसको लेकर धर्मनिरपेक्ष पार्टियों के प्रति मुसलमानों में काफी रोष है। मुसलिम समुदाय यह तय नहीं कर पाया है कि वे किस पार्टी को समर्थन दें। इसको लेकर आठ अप्रैल को झारखंड स्टेट राब्ता कौंसिल ने रांची उर्दू लाइब्रेरी में बैठक बुलायी है। बैठक में राज्यभर के मुसलिम संगठनों को आमंत्रित किया गया है। इसमें लोकसभा चुनाव पर चर्चा की जायेगी। साथ ही बैठक में सेक्युलर पार्टियों की कारगुजारियों पर भी चर्चा होगी। यह भी तय हो जायेगा कि किस पार्टी को मुसलिम समुदाय अपना समर्थन देंगे।भागीदारी की मांग न पूरी होने पर कौंसिल के फारूक आजम ने कहा कि इस बार चुनाव में धर्मनिरपेक्ष पार्टियों को इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा। कांग्रेस और राजद मुसलिमों को सिर्फ वोट बैंक समझती है। लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। समुदाय के लोग जागरूक हो चुके हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आठ की बैठक में समर्थन पर मुसलिम संगठन लेंगे फैसला