DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पाकिस्तान में अंपायरिंग के लिए तैयार हैं डेरेल हेयर

आईसीसी के एलीट पैनल में वापसी के बाद ऑस्ट्रेलिया के विवादास्पद अंपायर डेरेल हेयर ने यह स्पष्ट कर दिया है कि उनकी अंपायरिंग के तरीके में कोई बड़ा बदलाव नहीं आएगा। लेकिन उन्होंने यह जरूर कहा कि अपनी बात को सही ढंग से दूसरों तक पहुंचाने के लिए कुछ चीजें सीख रहे हैं। हेयर ने कहा कि नवंबर 2006 में पैनल से बाहर किए जाने के बाद से उन्होंने थकान और दबाव से भरे दिन बिताए हैं। उन्होंने कहा ‘इसस मुझे काफी थकान हुई थी। मुझे लगता है कि जब किसी के साथ इस तरह कुछ होता होगा तो वो भी दबाव के दौर से गुजरते होंगे। अब नियम बदल गए हैं और उस तरह के फैसले अंपायरों के हाथों से चले गए हैं। भविष्य में अब जो होने वाला है मैं उसका पूर्ण समर्थन करता हूं। अब आगे बढ़ने का समय है।’ हेयर ने सिडनी रेडियो 2केवाई के साथ बातचीत में कहा ‘नई पारी मैदान में अच्छे संवाद के प्रयोग वाली होगी। हर रोज जिंदगी में आप कुछ सीख कर आगे बढ़ना चाहते हैं। मैं यह नहीं कहूंगा कि अंपायरिंग के प्रति मेरा पूरा रुख बदल गया है, लेकिन मुझे लगता है कि मैंने कुछ चीजें सीखी हैं जो भविष्य में मेरे लिए काफी फायदेमंद रहेंगी। जरूरत इस बात की है कि जो हर कोई सोच रहा हो उसे विस्तार से समझने की जरूरत है। इसके साथ ही यह सुनिश्चित करना भी जरूरी है कि जो आप कहें या जो आप सोचें उसे दूसरे लोग भी समझें।’ उल्लेखनीय है कि आईसीसी ने नवम्बर 2006 में आेवल में इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट मैच के दौरान पाकिस्तान पर गेंद के साथ छेडख़ानी का आरोप लगाने वाले हेयर को प्रतिबंधित कर दिया था। आईसीसी ने बुधवार को कहा कि हेयर को फिर से बहाल किए जाने के फैसले से पाकिस्तानी टीम निराश है। हालांकि हेयर अभी उन मैचों में अंपायरिंग नहीं करेंगे जिसमें पाकिस्तान की टीम खेलेगी। उन्होंने पिछली घटनाआें पर कोई टिप्पणी करने से इनकार करते हुए कहा ‘वर्तमान समय पीछे मुड़कर देखने का नहीं बल्कि आगे बढ़ने का है।’ हेयर ने कहा ‘मैं चाहता हूं कि खिलाड़ी खेलें और उनके खेल में अंपायर कम से कम हस्तक्षेप करें। मुझे लगता है कि इस तरह के मसलों के लिए मुझे कुछ कार्य करने की जरूरत है।’ उन्होंने कहा ‘किसी दूसरे की प्रतिक्रिया पर मुझे कुछ नहीं कहना है। मैं तो अपनी राह को देख रहा हूं। जिस मैच में मुझे नियुक्त किया जाएगा उसमें अपनी पूरी क्षमता के साथ अंपायरिंग करूंगा। जैसा कि अभी तक करता आया हूं।’ 55 साल के हेयर का कहना है कि अगर उन्हें पाकिस्तान के खिलाफ मैचों में अंपायरिंग करने को कहा जाएगा तो उन्हें कोई दिक्कत नहीं होगी। उन्होंने कहा ‘ मेरे अनुबंध का यह हिस्सा है कि मैं टेस्ट मैचों और एकदिवसीय मैचों में अंपायरिंग करने के लिए तैयार हूं। फिर चाहे नियुक्ित (पाकिस्तान के मैच) उसमें हो, मुझे लगता है कि आपको नियुक्ित करने वालों से पूछना चाहिए।’

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पाकिस्तान में अंपायरिंग के लिए तैयार हैं हेयर