DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तिब्बती प्रदर्शनकारियों का दमन हुआ : चीन

अपने सभी पुराने दावों को खारिज करते हुए आखिरकार चीन ने शुक्रवार को स्वीकारा कि उसने तिब्बती प्रदर्शनकारियों के खिलाफ दमनचक्र चलाया है। चीन ने कहा कि सैनिकों ने हिंसा पर उतारू तिब्बती प्रदर्शनकारियों पर गोलियाँ चलाईं और उन्हें तितर-बितर करने के लिए आँसू गैस के गोले छोड़े, जिससे कई लोग घायल हो गए। शुक्रवार को चीनी सेना ने उन 21 प्रदर्शनकारियों की तलाश तेज कर दी, जिन्हें वह ल्हासा हिंसा का प्रमुख दोषी मानता है। इन लोगों की तस्वीरें भी इंटरनेट पर जारी कर दी गई हैं। जिन इलाकों में चीन का भयंकर विरोध किया जा रहा है, वहाँ सैनिकों की छावनियाँ बना दी गईं हैं और सड़कों पर सैन्य जवान लगातार गश्त कर रहे हैं। खासकर सिचुआन, गांशू और क्िवंघाई में सैनिकों का दमनचक्र चल रहा है। रविवार को अबा शहर में आठ प्रदर्शनकारियों की मौत हुई थी, इसके अलावा ‘तिब्बतियन सेंटर फार ह्यूमन राइट्स एंड डेमोक्रेसी’ ने कई शवों के चित्र भी जारी किए हैं, जो सैनिकों की गोली का शिकार हुए थे।ड्ढr इस बीच, चीन ने अमेरिकी प्रतिनिधिसभा की स्पीकर नैंसी पलोसी और दलाई लामा की मुलाकात पर नाराजगी जताई है। नई दिल्ली स्थित चीन के राजदूत जियांग यान ने कहा कि कोई भी देश उसके आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप न करे, क्योंकि तिब्बत चीन का आंतरिक मामला है। उसने भारत समेत अन्य देशों से भी अपील की है कि वे दलाई लामा के ‘मलाईदार भाषणों’ से प्रभावित न हों, क्योंकि उनका असली रूप तिब्बत में देखा जा सकता है। चीन का आरोप है कि दलाई लामा ही ल्हासा दंगों के लिए जिम्मेदार हैं और वह अगस्त में होने वाले आेलम्पिक खेलों को नुकसान पहुँचाना चाहते हैं। चीन ने फिर कहा कि तिब्बत में उसने कोई घातक हथियार नहीं प्रयोग किए हैं। इसके अलावा, चीनी सरकार ने शुक्रवार को बिना अधिकार के अवैध कार्यक्रम पेश कर रहीं 25 वेबसाइटों पर प्रतिबंध लगा दिया है। इसके अलावा 32 वेबसाइटों को चेतावनी दी गई है।ड्ढr दूसरी ओर, चीनी गुस्से की हवा निकालते हुए विदेश मंत्री प्रणव मुखर्जी ने कहा है कि उन्हें तिब्बत मुद्दे पर नैंसी पेलोसी के बयान में कुछ भी आपत्तिजनक नहीं लगा। उन्होंने कहा कि अमेरिका कोई दबाव नहीं डाल रहा है। इस बीच, दलाई लामा शुक्रवार को दिल्ली पहँुचे। वह विश्व भर से आए उनके अनुयायियों की ध्यान कार्यशाला में भाग लेंगे और अगले 10 दिनों तक दिल्ली में रहेंगे।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: तिब्बती प्रदर्शनकारियों का दमन हुआ : चीन