DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लड़कियों का रुतबा बढ़ा दुनिया में

यह सही है कि दुनिया के कई देशों में महिलाआें को पुरुषों के मुकाबले कम तनख्वाह मिलती है, लेकिन जहां तक सेवा क्षेत्र की बात है तो उसमें कॉरपोरेट का झुकाव लड़कियों की आेर ज्यादा है। सेवा क्षेत्र यानी सर्विस सेक्टर से जुड़ी चीजें। और इस लिहाज से किसी भी ब्रांड को लोकप्रिय बनाने में लड़कियां अहम भूमिका निभाती हैं। आज सेवा देने वाली कई कंपनियों में लड़कियों की भरमार है। इस अवसर ने लड़कियों को सामाजिक और आर्थिक सुरक्षा के साथ-साथ रुतबा भी दिया है। आईसीआईसीआई बैंक में सीनियर मैनेजर किरण खन्ना ने बताया कि जीडीपी में सबसे ज्यादा योगदान देने वाले सेवा क्षेत्र में महिलाआें को ज्यादा पसंद किया जा रहा है। यहां तक कि यूरोपीय संघ में भी यही हालात है। सेवा क्षेत्र उसी देश का ज्यादा विकसित माना जाता है, जहां पर अर्थव्यवस्था फल-फूल रही हो। भारत के सेवा क्षेत्र का जीडीपी में योगदान 55 प्रतिशत के करीब है। यह क्षेत्र तेजी से बढ़ता जा रहा है। इसलिए महिलाआें की पौ-बारह हो रही है। देश के छोटे कस्बों और शहरों में समृद्धि के पसरने के कारण निजी क्षेत्र में भी महिलाआें के लिए सम्मानजनक नौकरी के अवसर मिल रहे हैं। इसलिए मध्यम वर्ग की महिलाआें के लिए काम की कोई कमी नहीं है। उन्होंने बताया कि आई सीआईसीआई बैंक, रिलायंस, टेलीकॉम कंपनियों और ई-चौपाल अपने उत्पादों के विस्तार के लिए लड़कियों को ज्यादा पसंद करते हैं। यह सही है कि महिलाआें को कम वेतन और खराब कामकाजी स्थितियां मिलती हैं, लेकिन इस तरह की कंपनियों में काम करके वे सुरक्षित महसूस करती हैं। उल्लेखनीय है कि जैन पैक्ट ने अपने यहां एक कार्यक्रम विशेष रूप से चला रखा है, जो लड़कियों के लिए है। तेजी से बदलती दुनिया और लाइफ स्टाइल में लड़कियां भी इस तरह की नौकरियां पसंद करने लगी हैं। इससे वे सामाजिक और आर्थिक दोनों तरह से सुरक्षित होती हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: लड़कियों का रुतबा बढ़ा दुनिया में