अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भूटान में लोकतंत्र की बयार

सोमवार को ऐतिहासिक मतदान के बाद भूटान विश्व का सबसे नया लोकतांत्रिक देश बन जाएगा। इन चुनावों के साथ ही भूटान में सौ साल पुरानी राजशाही का अंत हो जाएगा और वहां लोकतांत्रिक शासन प्रणाली लागू हो जाएगी। भूटान के मुख्य चुनाव आयुक्त दाशो कुनजांग वांग्डी ने कहा कि हमें खुशी है कि सारा देश मतदान करने के लिए उत्सुक है। पिछले दिसंबर में हुए राष्ट्रीय परिषद के चुनावों के आधार पर हम कह सकते हैं कि लगभग 70 फीसदी तक मतदान होगा। भूटान की कुल आबादी छह लाख है, इनमें से तीन लाख 18 हजार 465 लोग 47 सदस्यीय संसद के लिए मतदान की पात्रता रखते हैं। इन चुनावों में पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी और ड्रक फुएंसुम त्शोग्पा नामक दो दल भागीदारी कर रहे हैं। भारत, यूरोपीय यूनियन, जापान, कनाडा, अमेरिका जैसे देशों के चुनाव पर्यवेक्षक और संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम के अधिकारी चुनावों का अवलोकन करेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: भूटान में लोकतंत्र की बयार