अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

‘नेपाल में मतदाताओं को धमकाएं नहीं दल’

संयुक्त राष्ट्र ने नेपाल के राजनीतिक दलों और उनके पूर्व माआेवादी विद्रोहियों को आम चुनाव के पहले मतदाताआें को डराने-धमकाने से रोकने का आग्रह किया है। देश में हाल में चुनाव संबंधी हिंसा में दो लोगों की मौत हो गई तथा दर्जनों घायल हुए हैं। नेपाल में 10 अप्रैल को चुनाव होंगे जो नया संविधान तैयार करेगी। शीर्ष दलों का आरोप है कि माआेवादी उनके नेताआें को तराई क्षेत्रों में चुनाव-प्रचार करने से रोक रहे हैं। विश्लेषकों का मानना है कि हिंसा के चलते पिछले नौ वर्षो में पहली बार हो रहे चुनाव की विश्वसनीयता खतरे में पड़ जाएगी, जिसे प्रधानमंत्री कोइराला ने राष्ट्रीय सम्मान का मुद्दा करार दिया है। उधर कोइराला ने कहा यदि हम चुनाव नहीं करा सकते तो हम विश्व बिरादरी के बीच अपनी पहचान खो बैठेंगे।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ‘नेपाल में मतदाताओं को धमकाएं नहीं दल’