DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बगैर नियमित सुपरिटेंडेंट चल रहे हैं कई जेल

बिरसा मुंडा केंद्रीय कारा सहित राज्य के कई जेल बगैर नियमित सुपरिटेंडेंट के चल रहे हैं। महीनों से इन जेलों को प्रभार के माध्यम से चलाया जा रहा है। बिरसा मुंडा केंद्रीय कारा में स्थायी सुप्रीटेंडेंट नहीं हैं। इसे सुरक्षा और अन्य तकनीकी कारणों से काफी गंभीर बताया जा रहा है।ड्ढr जानकारी के अनुसार रांची केंद्रीय कारा के निवर्तमान अधीक्षक अब्राहम मिंज 31 जनवरी को ही सेवानिवृत्त हो गये। उसके बाद से कारा अधीक्षक का प्रभार मेसो पदाधिकारी संग्राम बेसरा को दिया गया है। 31 मार्च को कुछ और प्रमुख जेलों के सुपरिटेंडेंट सेवानिवृत्त हो रहे हैं। इनमें गोड्डा कारा प्रमुख है। रांची, लोहरदगा, सिमडेगा और गिरिडीह में पहले से नियमित जेल सुपरिटेंडंेट नहीं हैं। इस तरह राज्य के पांच प्रमुख जेल नियमित सुपरिटेंडंेट विहिन हो जायेंगे। सूत्रों ने बताया कि सुरक्षा सहित अन्य कारणों से राज्य सरकार के शीर्ष स्तर पर भी नियमित सुपरिटेंडेंटों की पदस्थापन की जरूरत महसूस की जा रही है। परंतु वित्तीय वर्ष का अंतिम माह होने के कारण स्थापना समिति की बैठक नहीं हो पा रही है। अप्रैल के प्रथम सप्ताह में उपरोक्त काराओं में नियमित सुपरिटेंडंेटों के पदस्थापन की संभावना है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बगैर नियमित सुपरिटेंडेंट चल रहे हैं कई जेल