DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बरसाना में खून की होली, तीन की हत्या

बरसाना के ग्राम मेहराना में मामूली नोक-झोंक खून की होली में बदल गई। हिंसा पर उतारू उत्तेजित युवकों ने एक परिवार पर अंधाधुंध गोलियां बरसाई, जिससे तीन सगे भाइयों की मौके पर ही मौत हो गई। परिवार के अन्य सदस्यों ने यहां-वहां छुपकर जान बचाई। दिनदहाड़े हुई इस वारदात से पूरे क्षेत्र में सनसनी फैल गई। हमलावरों में से एक को दबोच लिया गया है। गांव में तनाव को देखते हुए एहतियात के तौर पर पीएसी व पुलिस बल तैनात हैं। शनिवार करीब साढ़े ग्यारह बजे गांव के राजेंद्र, डालचंद्र, रघुवीर व निरंजन अपने परिवार की महिलाआें के साथ घर के अंदर होली खेल रहे थे। तभी पड़ोस में रहने वाला सतीश भी वहां जा पहुंचा, और उनके साथ नाचने लगा। महिलाआें के साथ सतीश को नाचते देख राजेंद्र व डालचंद ने उसे रोका और घर जाने को कहा। इससे गुस्साए सतीश ने बाहर आकर म्यूजिक बॉक्स को लात मारकर गिरा दिया। इस को लेकर राजेंद्र व सतीश में कहासुनी हो गई। कुछ देर बाद वह भाई विजेंद्र, चंदर, चचेरे भाई प्रताप, सत्तो, सुखदेव, पिता मटीकाराम के साथ हथियारों से लैस होकर पहुंचा और अंधाधुंध फायरिंग कर राजेंद्र (37), डालचंद्र (35), रघुवीर (33) को मौत के घाट उतार दिया। सतीश के हाथ में राइफल तथा अन्य के हाथों में तमंचे थे। गोलियों की बौछार सुन घर के अन्य सदस्य अंदर घुस गए और दरवाजा बंद कर लिया। वारदात की पाकर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आरके चतुर्वेदी, अपर पुलिस अधीक्षक गोविंद अग्रवाल व अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे। देर शाम को बरसाना पुलिस ने सतीश को देशी राइफल व कारतूस सहित गिरफ्तार कर लिया। मृतक के भाई निरंजन सिंह ने सतीश, विजेंद्र, प्रताप, सत्तो, चंदर, टीकाराम, सुखदेव व उसकी पत्नी राजकुमारी के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया है। गांव में तनाव को देखते हुए पीएसी व पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने बताया कि विवाद होली खेलने को लेकर पनपा, जिसके परिणाम स्वरूप अभियुक्तों ने अवैध असलहों से तीन भाइयों की हत्या कर दी, पुलिस जल्द ही सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बरसाना में खून की होली, तीन की हत्या