अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

करार पर बात करने के लिए अमेरिका में प्रणब

अमेरिकी नेताआें के साथ द्विपक्षीय वार्ता करने यहां पहुंचे विदेश मंत्री प्रणब मुखर्जी आज अमेरिकी विदेश मंत्री कोंडेलीजा राइस से मुलाकात कर उन्हें भारत अमेरिका परमाणु करार पर प्रगति से अवगत कराएंगे। विदेश सचिव शिवशंकर मेनन एवं अन्य अधिकारियों के साथ मुखर्जी सोमवार को ही ह्वाइट हाउस में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार स्टीफन हेडले से भी मिलेंगे। इस दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति के साथ भी उनकी बैठक होने की संभावना है। अधिकारियों के मुताबिक मुखर्जी की चर्चा में भारत अमेरिका के बीच द्विपक्षीय संबंधों के सभी पहलुआें पर बातचीत शामिल होगी। बतौर विदेश मंत्री मुखर्जी की यह पहली अमेरिका यात्रा है। इसके अलावा पिछले तीन वषर्ों में किसी भारतीय विदेश मंत्री की पहली यात्रा भी है। इससे पहले नटवर सिंह ने 2005 बतौर विदेश मंत्री यहां का दौरा किया था। अमेरिका के साथ असैन्य परमाणु करार पर अंतरराष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी (आईएईए) के साथ भारत केंद्रित सुरक्षा समझौते के पाठ को अंतिम रूप देने के बाद यह दौरा शुरू हुआ है। लेकिन यह भी स्पष्ट है कि केंद्र सरकार को समर्थन दे रहे वाम दलों की मंजूरी के बिना सरकार इस मसौदे पर हस्ताक्षर नहीं करेगी। हालांकि गत बुधवार को संसद में इस करार के पक्ष में बयान देते हुए मुखर्जी ने कहा था हम ऐसे चरण में पहुंच गए हैं जहां न तो हम इसे दुरुस्त कर सकते हैं और न ही खत्म कर सकते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: करार पर बात करने के लिए अमेरिका में प्रणब