DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

टूटी सड़क पर ही चुंगी वसूलने की तैयारी थी

नेशनल हाईवे अथॉरिटी आफ इंडिया (एनएचआई) ने टूटी और गड्ढेदार सड़क पर ही चुंगी लगाने की तैयारी कर ली थी, लेकिन केन्द्र सरकार ने चुंगी वसूलने की अधिसूचना अब तक जारी नहीं की है और उसे एक महीने के लिए टाल दिया है। फिलहाल एनएचआई ने सड़क टूटने के कारणों को जानने की जाँच बैठा दी है। जाँच रिपोर्ट एक हफ्ते के अंदर मिल जाएगी। अधिकारियों का दावा है कि रिपोर्ट मिलने के 15 दिन के अंदर सड़क ठीक कर दी जाएँगी।ड्ढr उल्लेखनीय है कि एनएचआई ने अगली एक अप्रैल से इस मार्ग पर चुंगी वसूलने का प्रस्ताव केन्द्र सरकार को भेजा था। पहले चरण में अमौसी से उन्नाव के बीच चुंगी वसूलने का प्रस्ताव था। एनएचआई ने इसकी दरें भी प्रस्तावित कर दी थीं, लेकिन केन्द्र सरकार ने उसे अभी स्वीकृत नहीं किया गया है। यही कारण है कि अभी तक उसकी अधिसूचना तक जारी नहीं हो पाई है। अमौसी से उन्नाव के बीच सड़क बनाने का काम वर्ष 2000 में पूरा हो गया, लेकिन जाजमऊ के पास से शुरू हुए काम में बाधा उत्पन्न हो गई। अधिकारियों ने कहा कि यह सड़क मार्च 2008 तक बन जाएगी। लेकिन अभी लक्ष्य पूरा होता नहीं दिख रहा है। सड़क में थोड़ी-थोड़ी दूर पर गड्ढे हो गए हैं। सात स्थानों पर पुलिया के ऊँचे खाँचे हैं। इन गड्ढों और ऊँचे खाँचों की वजह से अक्सर दुर्घटनाएँ हो रही हैं। इसके बाद भी अधिकारियों ने इस सड़क पर चुंगी लगाने का प्रस्ताव केन्द्र सरकार को भेज दिया था।ड्ढr एनएचआई के अधिकारी बताते हैं कि वे गड्ढे ठीक कराते हैं और कुछ ही दिनों में फिर गड्ढे हो जाते हैं। अथारिटी के स्थानीय प्रभारी एमके जैन ने सड़क में बार-बार आ रही खराबी का पता करने के लिए जाँच बैठा दी है। जाँच आईसीटी लिमिटेड से कराई जा रही है। इस कम्पनी से यह पता करने के लिए कहा गया है कि सड़क में ये खराबी क्यों आ रही है और वह कैसे ठीक होगी। क्या पूरी सड़क पर नई लेयर डालनी होगी? सूत्रों का कहना है कि सड़क की खराबी का एक अहम कारण झाँसी-हमीरपुर की आेर से आने वाला आेवर लोडेड वाहन हैं।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: टूटी सड़क पर ही चुंगी वसूलने की तैयारी थी