DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आईपीएल में पेसर रहेंगे हावी : मैक्ग्रा

आईपीएल के दक्षिण अफ्रीका में होने से ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज ग्लेन मैक्ग्रा निराश भी हैं और खुश भी। निराश इसलिए कि वहां भारत जसे जुनूनी क्रिकेट प्रेमी नहीं मिलेंगे। खुश इसलिए कि वहां कि पिचें ऑस्ट्रेलिया जसी होंगी, जो तेज गेंदबाजों की मददगार रहेंगी। मैक्ग्रा ने कहा, ‘दक्षिण अफ्रीका की पिचें वैसी ही हैं जसी कि हमार घर ऑस्ट्रेलिया में होती हैं। इन पर तेज गेंदबाजों को मदद मिलेगी। स्पिनर ज्यादा कामयाब नहीं होंगे।’ आईपीएल की अनेक टीमों में दक्षिण अफ्रीकी खिलाड़ी हैं और कुछ टीमें सपोर्ट स्टॉफ में दक्षिण अफ्रीकी लोगों को रख रही हैं। इसका कितना फायदा मिलेगा? इस पर मैक्ग्रा ने कहा,‘लोकल लोगों का फायदा तो रहता है। उनसे खास जानकारी मिल सकती है जो मददगार रहती है। लेकिन मेर जसे सीनियर खिलाड़ी के रहते चिंता की बात नहीं। हमें भी वहां के बार में काफी जानकारी है।’ हाल में परिवार में हुई परशानियों के बाद आईपीएल के दूसरे सत्र में खेलने पर मैक्ग्रा ने कहा, वाकई पिछले आठ दस महीने मेरे लिए मुसीबतों भरे रहे। कैंसर की वजह से मेरी पत्नी का निधन हो गया जो मेरे लिए करारा झटका था। इसके अलावा भी मेरे परिवार में कुछ मुश्किलें आई। बहरहाल मेरे बच्चों . दोस्तों और क्रिकेट ने मुझे इन आपदाओं से निकलने में मदद की। मैं अब इन मुसीबतों से उबरकर दक्षिण अफ्रीका में अच्छा प्रदर्शन करने की कोशिश करूंगा।’ दिल्ली डेयरडेविल्स की संभावनओं पर मैक्ग्रा ने कहा, ‘हमारी टीम ने पिछली बार शुरू के पांच में से चार मैच जीत कर अच्छी शुरुआत की थी, लेकिन अंतिम पांच में चार मैच हार गए थे। इस बार कमियों को पूरा कर लिया गया है। कुछ नए खिलाड़ी आए हैं, जो बेहतर प्रदर्शन करंगे। हमार पास विरन्दर सहवाग और डेविड वॉर्नर हैं। जो अगर रंग में आ गए तो दस ओवर में भी शतक बना सकते हैं। ये आक्रामक बल्लेबाजों की जबर्दस्त जोड़ी है।’ उन्होंने कहा, ‘20-20 क्रिकेट के बार में कुछ नहीं कहा जा सकता कि कौन जीतेगा। इसमें जरा सी गड़बड़ी सारा गणित बिगाड़ देती है। हर टीम रन बनाने और विकेट चटकाने की रणनीति से आती है, जिसका दिन होता है वह जीत जाती है। पिछले दिनों खिलाड़ियों ने काफी 20-20 क्रिकेट खेल ली है और उम्मीद है कि इस बार अच्छा प्रदर्शन देखने को मिलेगा।’ दिल्ली वालों के समर्थन पर मैक्ग्रा ने कहा, ‘मुझे एक ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी होने के बाद भी जिस तरह का समर्थन यहां मिला, वह शानदार रहा है।’मैक्ग्रा ने डेयरडेविल्स के कप्तान विरन्दर सहवाग की प्रशंसा करते हुए कहा] जब मैं अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेल रहा था तो सहवाग को गेंद डालना टेढ़ी खीर होती थी। क्योंकि आप जरा सा दिशा से भटके नहीं कि आपको मार पड़नी तय है। बतौर कप्तान भी सहवाग का प्रदर्शन शानदार रहा है। वह टीम से बेहतर प्रदर्शन करवाने की क्षमता रखते हैं। आपको किस तेज गेंदबाज ने प्रभावित किया है? इस पर मैक्ग्रा ने तमिलनाडु के तेज गेंदबाज वाई. योमहेश का नाम लेते हुए कहा,‘योमहेश बहुत ही बेहतरीन क्रिकेटर है। वह जल्दी से सीखने वाले गेंदबाज हैं। उनका व्यवहार भी अच्छा रहता है। वह जुनून के साथ खेलते हैं और मुझे उनसे इस सीजन काफी उम्मीदें हैं।’ केविन पीटरसन के बेंगलुरु रॉयल चलैंजर्स से जुड़ने पर मैक्ग्रा ने कहा, ‘वह मुझे पसंद नहीं है। एक तो वह इंग्लैंड के हैं और उससे पहले दक्षिण अफ्रीकी हैं। मुझे दक्षिण अफ्रीकी इंग्लिश खिलाड़ी कैसे पसंद आ सकता है।’

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आईपीएल में पेसर रहेंगे हावी : मैक्ग्रा